IPS गौरव के ट्रांसफर पर जमकर रोए निवासी, वीडियो वायरल

आमतौर पर लोग पुलिसवालों के खिलाफ प्रदर्शन करते दिखते है, लेकिन मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में तैनात एक पुलिस अधिकारी के कामकाज ने स्थानीय जनता को इतना ज्यादा प्रभावित किया कि उनके ट्रांसफर की खबर आते ही लोग दुखी हो गए. लोकप्रिय एसपी गौरव तिवारी के ट्रांसफर पर स्थानीय लोग विदाई देते वक़्त भावुक हुए, तो तिवारी भी लोगों का प्यार देखकर अपने आंसू नहीं रोक पाए.

इसको लेकर गौरव तिवारी का एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी वायरल हो रहा है. इस 15 सेकंड के वीडियो में एसपी गौरव तिवारी रोते हुए दिखाई दे रहे है. यह वायरल वीडियो छिंदवाड़ा का है. दरअसल, पिछले दिनों 30 जून को छिंदवाड़ा के एसपी गौरव तिवारी का मध्य प्रदेश गृह विभाग ने देवास ट्रांसफर कर दिया. गौरव तिवारी आदेश आने के दो घंटे बाद ही कार्यमुक्त हो गए.

इस बीच सोशल मीडिया में गौरव तिवारी का भावुक वीडियो तेजी से वायरल हो गया. ट्रांसफर के बाद गौरव तिवारी को विदाई देने के लिए लोग उनके दफ्तर पहुंच गए. इस दौरान एसपी गौरव तिवारी इतने भावुक हो गए कि उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े.

हफ्ते भर में तबादला में किया गया संशोधन कटनी हवाला कांड की निष्पक्ष जांच करने के दौरान सुर्खियों में आए एसपी गौरव तिवारी का पिछले साल ही कटनी से छिंदवाड़ा ट्रांसफर कर दिया गया था और अब करीब डेढ़ साल बाद उन्हें 30 जून को देवास ट्रांसफर का लेटर थमाया गया, लेकिन आठ जुलाई को पिछले आदेश को संशोधित किया करते हुए नया नोटिफिकेशन निकाला गया और उन्हें रतलाम भेजा गया. तीन साल में पांचवा तबादला सोशल मीडिया पर इस वायरल वीडियो में गौरव तिवारी काफ़ी भावुक नजर आ रहे हैं. महज तीन साल में एसपी के रूप में ये उनका पांचवा तबादला है.

उन्हें पहले बालाघाट, फिर कटनी, उसके बाद छिंदवाड़ा, फिर देवास और अब रतलाम में तैनात किया गया है. वह ऐसे एसपी हैं, जिन्हे एक हफ्ते के अंदर दूसरी बार तबादला कर दिया गया है. गौरव तिवारी के समर्थन में उतरे लोग इस वीडियो के वायरल होने के बाद हजारों लोग एसपी गौरव तिवारी के समर्थन में उतर आए हैं और सोशल मीडिया पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे है. इनमें से अधिकतर लोग इनके बार-बार ट्रांसफर होने पर सवाल उठा रहे हैं. इस बात पर सरकार के ऊपर सवालिया निशान लग रहा है कि इनका ट्रांसफर किसी प्रसाशनिक प्रक्रिया के तहत किया गया है या मामला कुछ और है? आजतक से फोन पर बातचीत के दौरान एसपी गौरव तिवारी ने रतलाम ट्रांसफर होने की पुष्टि की.

उन्होंने कहा, ‘पहले मुझे देवास जाना था, लेकिन बाद में मुझे रतलाम ज्वाइन करने को कहा गया.’ 500 करोड़ के हवाला कांड में बड़े रसूखदारों के नाम किए थे उजागर इस लोकप्रिय IPS अधिकारी के ट्रांसफर की खबर इससे पहले भी कई बार सुर्ख़ियों में रही है. इससे पहले उन्होंने पिछले साल जनवरी में कटनी में 500 करोड़ के हवाला प्रकरण की जांच के दौरान बड़े-बड़े रसूखदारों के नाम उजागर किए थे, जिसके बाद अचानक बीजेपी की सरकार ने उनका तबादला छिंदवाड़ा कर दिया था. ‘कटनी के सिंघम’ के नाम से जाने जाने वाले तत्कालीन एसपी गौरव तिवारी के पक्ष में स्थानीय जनता सड़कों पर प्रदर्शन करती दिख चुकी है.

2010 बैच के IPS अधिकारी हैं गौरव तिवारी गौरव तिवारी 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी है. वाराणसी के रहने वाले इस 36 साल के युवा अधिकारी ने अपनी हर पोस्टिंग के दौरान अपनी कार्यशैली से लोगों के बीच अपनी अलग छाप छोड़ी और यही वजह है कि उनका तबादला होते ही लोग सड़कों पर उतर आते हैं, लेकिन इस बार शायद एसपी गौरव तिवारी का भी सब्र का बांध टूट गया और वो फूट-फूट कर रोने लगे.

Facebook Comments