मोदी : करुणानिधि ने पूरी जिंदगी गरीबों के कल्याण के लिए समर्पित की

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री व द्रमुक प्रमुख एम. करुणानिधि के चरित्र को सार्वजनिक जीवन के अगुआ के रूप में वर्णित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को उनके निधन पर दुख व्यक्त किया और कहा कि देश आज निर्धन हो गया।

कोविंद ने ट्वीट किया, “एम. करुणानिधि के निधन के बारे में जानकर बेहद दुख हुआ। तमिलनाडु और भारत के विकास में योगदानकर्ता के रूप में हमारे सार्वजनिक जीवन का एक अगुआ हमारे बीच से चला गया। आज हमारा देश निर्धन हो गया है। उनके परिवार और लाखों शुभचिंतक के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करुणानिधि के निधन पर शोक प्रकट किया है। ट्वीट की एक श्रंखला में मोदी ने कहा, “कलैगनार करुणानिधि के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं। वह भारत के वरिष्ठतम नेताओं में से एक थे।”

मोदी ने कहा, “हमने एक बड़े जमीनी नेता, सफल विचारक, प्रसिद्ध लेखक और एक निष्ठावान नेता को खो दिया, जिसने अपनी जिंदगी गरीबों और हाशिए पर रहे लोगों के कल्याण के लिए समर्पित कर दी।”

उन्होंने कहा, “कलैगनार करुणानिधि क्षेत्रीय अकांक्षाओं के साथ साथ राष्ट्रीय प्रगति के लिए खड़े रहे थे।”

मोदी ने कहा कि उन्हें कई मौकों पर करुणानिधि के साथ बातचीत करने का अवसर मिला। उनकी नीति की समझ और सामाजिक कल्याण पर जोर उन्हें दूसरों से अलग बनाती थी। लोकतांत्रिक विचारों के लिए उनकी प्रतिबद्धता और आपातकाल के कड़े विरोध के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।

कोलकाता से खबर है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने करुणानिधि के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि देश ने आज अपना एक महान सपूत खो दिया।

ममता ने ट्वीट कर कहा, “आज भारत ने अपना महान सपूत और तमिलनाडु ने पिता समान हस्ती को खो दिया। अलविदा कलैगनार। मेरी गहरी संवेदनाएं तमिलनाडु के लोगों, द्रमुक और परिजनों के साथ हैं। देश आपके साथ शोक में है।”

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने करुणानिधि के निधन पर शोक जताते हुए इसे राष्ट्र के लिए बड़ी क्षति बताया। उन्होंने कहा कि वह बुधवार को चेन्नई जाकर करुणानिधि को श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे।

Facebook Comments