तीसरे टेस्ट से पहले भारतीय टीम बंटी दो टुकड़ों में, कोहली के लिए चुनौती

इंग्लैंड दौरे पर पहुंची भारतीय क्रिकेट टीम की टेस्ट सीरीज़ के शुरुआती दो मैचों में इंग्लैंड से भद्द पिटने के बाद भी भारतीय टीम का बुरा वक्त थमने का नाम नहीं ले रहा। पांच मैचों की सीरीज़ का तीसरा मैच 18 अगस्त से खेला जाना है लेकिन टीम के दो धड़ों में बंटने की जो खबर निकल कर सामने आ रही है उससे क्रिकेट फैंस का चौंकना लाज़िमी है।

Third party image reference

इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 0-2 से पीछे चल रही भारतीय टीम के प्रदर्शन से क्रिकेट फैंस दुखी थे लेकिन अब टीम में फूट की खबरों से क्रिकेट फैंस का हार्ट ब्रेक हो सकता है। यह सवाल इसलिए भी क्रिकेट फैंस के मन में कौंध रहा है क्योंकि इंग्लैंड में इंडियन टीम के मैंबर्स अलग-अलग साधनों से सफर कर रहे हैं। खिलाड़ियों के इस तरह ट्रेवल करने से टीम की यूनिटी पर सवाल उठ रहे हैं। पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज और क्रिकेट विश्लेषक वीरेंद्र सहवाग ने भी इस मुद्दे को गंभीर माना है।

सहवाग ने मामले में दखल देते हुए इस तरह की ट्रेवलिंग को टीम हित में नहीं बताया है क्योंकि ऐसे में खिलाड़ी आपस में मेलजोल के अवसर गंवा देते हैं और खिलाड़ियों में बेहतर बॉन्डिंग भी नहीं पनप पाती। सोशल मीडिया पर क्रिकेट फैंस का कहना है कि टीम में जब ऋषभ पंत, शार्दुल ठाकुर और करुण नायर जैसे नये चेहरे हों तो ऐसे में तो यंग्स्टर्स को और ज्यादा सीनियर खिलाड़ियों का साथ मिलना ही चाहिए। यूजर्स का तो यहां तक मानना है कि कोहली की कप्तानी में एक तरह से नए प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को दरकिनार किया जा रहा है।

क्या कहना है आपका? खिलाड़ियों के इस तरह अलग-अलग सफर करने का क्या मतलब निकाला जाना चाहिए? साथ ही कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के इस विराट फैसले का आगामी टेस्ट मैचों पर क्या असर पड़ने वाला है? हमें इस बारे में आपकी महत्वपूर्ण प्रतिक्रियाओं का कमेंट बॉक्स में बेसब्री से इंतजार है।

Facebook Comments