विजय माल्या के लग्जरी जेट की 35 करोड़ में नीलामी

कम से कम चार विफल प्रयासों के बाद सर्विस टैक्स अथॉरिटी को शराब कारोबारी विजय माल्या के लग्जरी जेट का खरीदार मिल गया है। सूत्रों के मुकाबले पिछले शुक्रवार को फ्लोरिडा की एविएशन मैनेजमेंट कंपनी ने 34.8 करोड़ रुपये की सबसे बड़ी बोली लगाई। सर्विस टैक्स अथॉरिटी ने माल्या के A319 जेट विमान को बेचने का फैसला किया था। माल्या इस विमान से बिजनस डील करने के लिए एक देश से दूसरे देश जाया करते थे। अक्टूबर 2012 में किंगफिशर के दिवालिया होने से पहले माल्या पर 800 करोड़ का सर्विस टैक्स बकाया हो गया था।

कर्नाटक हाई कोर्ट के आदेश के बाद पिछले शुक्रवार को ई-ऑक्शन से यह प्रक्रिया पूरी की गई। सूत्र से मिली जानकारी के मुताबिक इस जेट को 2013 से मुंबई एयरपोर्ट पर पार्क किया गया है। बॉम्बे हाई कोर्ट की मंजूरी के बाद यह डील पूरी की जाएगी।

सूत्र के मुताबिक MSTC द्वारा कराई गई नीलामी में आखिरकार प्राइवेट लग्जरी जेट को खरीदार मिल गया। फ्लोरिडा की एविएशन मैनेजमेंट कंपनी LLC ने सबसे बड़ी बोली लगाई। विभाग ने मार्च 2016 में पहली नीलामी के दौरान इसका रिजर्व प्राइस 152 करोड़ फिक्स किया था।

पहली नीलामी में 106 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया लेकिन केवल एक बिडर ने 1.09 करोड़ की बोली लगाई। विभाग ने बिड को रिजेक्ट कर दिया और रिजर्व प्राइस 10 प्रतिशत कम कर दिया। दिसंबर 2013 में इस प्लेन को सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट ने अटैच किया था। पहले यह नीलामी विफल रही क्योंकि लगाई गई बोलियां रिजर्व प्राइस से बहुत कम थीं।

Facebook Comments