झेलने पड़ सकते हैं ये भारी नुकसान,अगर आप भी मंदिर में रखते हैं ये 5 चीजें

मंदिर एक ऐसी जगह है जहां मन को शांति मिलती है। कहीं भी जानें से पहले मंदिर में हाथ जोड़ कर जाते हैं। इसके लिए जरुरी है कि मंदिर में भी कभी नेगेटिव एनर्जी की एंट्री ना हो।
लेकिन कभी-कभी आपके नियमित पूजा-पाठ और मेहनत के बावजूद काम नहीं बनते। इसकी वजह वास्तु दोष हो सकता है। वास्तु में मंदिर के लिए कुछ जरूरी नियमों को बताया गया है।

मंदिर ज़मीन पर ना बनाएं। मंदिर इतनी ऊंचाई पर हो कि आपकी छाती और भगवान के पैरों का लेवल बराबर हो।

अगर आपका अलग पूजा रूम है तो इसकी दीवारों का रंग पीला, हरा या फिर हल्का गुलाबी रखें। बेहतर होगा आप इनमें से किसी एक रंग से ही दीवारे रंगें।

घर का मंदिर हमेशा लकड़ी का रखें। वास्तु के मुताबिक लड़की गुड लक लाती है। अगर आप संगमरमर का मंदिर रखना चाहते हैं तो वो भी रख सकते हैं। इससे भी घर में शांति और खुशी आती है।

अपने मृतक बुज़ुर्गों की फोटो को कभी भी भगवान के स्थान पर या उनके पास ना रखें। अगर आपको उनकी फोटो मंदिर में रखनी ही है तो हमेशा भगवान के लेवल से नीचे रखें।

मंदिर और बाथरूम की दीवार कभी भी एक नहीं होनी चाहिए। अगर मंदिर दूसरे फ्लोर पर है तो नीचे टायलेट नहीं होना चाहिए।

Facebook Comments