रोज स्नान करने के बाद इस छोटे से मंत्र का जाप करने से होता है सभी कष्टों का निवारण

जैसा कि आप सभी जानते हैं, हिंदू धर्म और पुराणों, वेदों आदि में बहुत से मंत्र दिए हुए हैं। हिंदू धर्म में दिए गए इन मंत्रों में से किसी का भी उच्चारण करने पर आपके कष्टों का निवारण होता है, परंतु आज हम आपको कुछ खास मंत्र के बारे में बताने वाले है, जो कोई भी व्यक्ति भगवान शिव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते हैं। उनके कष्ट अवश्य ही दूर हो जाते हैं। भगवान शिव के इस मंत्र का जाप करने से आपकी शारीरिक और मानसिक पीड़ा भी दूर होती है। इस मंत्र का जाप स्नान करने के पश्चात करना चाहिए। जिससे आपके सभी कष्टों का निवारण हो जाएगा।

महामृत्युंजय मंत्र :- ऊं त्रयम्बकं यजामहे, सुगन्धिं पुष्टिवर्धनं उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मोक्षिय मामृतात्।

मंत्र जाप से होने वाले फायदे :-

सावन के पावन महीने में मृत्युंजय जाप करने से आपको धन संपदा की भी वृद्धि होती है। सॉन्ग इस महीने में भगवान शिव अर्थात भोलेनाथ की पूजा अर्चना की जाती है। पूजा में भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाया जाता है। भगवान भोलेनाथ की शिवलिंग पर दूध और पुष्प चढ़ाए जाते हैं। महामृत्युंजय का जाप सावन के महीने में करने से आपको बहुत ही लाभ प्राप्त होता है। ऐसा करने से आपका मानसिक तनाव दूर होता है और आपके कष्टों का निवारण होता है। इस मंत्र का जाप करने से आपके परिवार में चल रही ग्रह कलेश तथा कोर्ट कचहरी के मामले, विद्रोह आदि बहुत ही जल्द समाप्त हो जाएंगे।

दोस्तों अगर आपको हमारी यह खबर अच्छी लगे तो कमेंट करके बताएं और लाइक और शेयर जरूर कीजिए और आगे भी ऐसे ही खबर पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसी खबर आपके लिए लाते रहते हैं।

Facebook Comments