मॉब लिंचिंग के बाद वसुंधरा सरकार ने गौरक्षकों की सूची बनाने के निर्देश दिए

राजस्थान के अलवर में रकबर खान की मॉब लिंचिंग के दौरान हत्या से पुलिस और सरकार की देश विदेश में किरकिरी होने के बाद राजस्थान सरकार राज्य के सभी गो रक्षकों की सूची बनवा रही है. सूबे की पुलिस को हर थाने में गो रक्षकों की सूची तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं.

राजस्थान पुलिस भी अब पुलिस अलर्ट हो गई है. गो रक्षा के नाम पर मॉब लींचिंग की घटनाओं को देखते हुए अलवर पुलिस गो रक्षकों ओर विभिन्न हिंदूवादी संगठनों और ग्रामीणों को समझा सके, इसके लिए अभियान शुरू किया गया है.

अलवर के एसपी राजेन्द्र सिंह के आदेश के बाद जिले के सभी थानाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे गांवोक्स में जाएं और लोगों को समझाएं कि गो तस्करी के शक में किसी के साथ मारपीट नहीं करें. पुलिसकर्मी खुद गांव के लोगों और गोरक्षकों को समझा रहे है कि वे खुद कानून को हाथ में नहीं ले.

गोतस्करी की सूचना मिले तो पुलिस को सूचना दें. जिसके बाद पुलिस खुद मुक़दमा दर्ज कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी.

गौरतलब है कि अलवर मॉब लिंचिंग की घटनाओं से राज्य सरकार ओर अलवर पुलिस को भारी बदनामी झेलनी पड़ी है. इसलिए विधान सभा चुनाव के पूर्व राज्य सरकार इस तरह की घटनाओं की पुनरावत्ति नहीं देखना चाहती है.

इसलिए सरकार ने पुलिस को निर्देशित किया है कि सभी गोरक्षकों ओर हिंदूवादी संगठनों के लोगों को हिदायद दे कि वे खुद कानून हाथ में लेकर मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं को अंजाम नहीं दें

मुंडावर के थानाअधिकारी वीर सिंह ने कहा है कि हम लोग इसे एक अभियान की तरह ले रहे हैं. और गांव-गांव जाकर लोगों को समझाने का काम शुरू कर दिया गया है.

Facebook Comments