यह मोदी का क्रूर इंडिया है,अलवर मॉब लिंचिंग पर बोले राहुल गांधी

राजस्थान के अलवर जिले में मॉब लिंचिंग का एक दुखद मामला सामने आया है। रामगढ़ में गौ तस्करी के संदेह में हरियाणा के रहने वाले एक व्यक्ति की भीड़ ने पीट पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने फिलहाल इस मामले में दो संदिग्ध अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। इस घटना से बीते साल अलवर में हुई पहलू खान की हत्या की घटना की याद ताजा हो गई है। मृतक की पहचान हरियाणा के कोलगांव के रहने वाले 50 वर्षीय अकबर खान के रूप में हुई है। सूत्रों ने बताया है कि खुद को गौ रक्षक बताने वाले लोग इस भीड़ की अगुवाई कर रहे थे। गायों को ले जा रहे शख्स को भीड़ ने रोक कर पूछताछ की और पीट-पीटकर मार डाला। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अलवर के सरकारी अस्पताल भेज दिया है।

इस घटना ने राजस्थान की राजनीति को गर्म कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा है कि, अलवर में मांब ब्लीचिंग के शिकार मर रहे अकबर खान को 6 किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंचाने में पुलिस को 3 घंटे लग गए क्यों, उन्होंने रास्ते में टी ब्रेक लिया, यह मोदी का क्रूर इंडिया है। जहां इंसानियत की जगह नफरत ने ले ली है। और लोगों को पीटकर मरने को छोड़ दिया जाता है।

वहीं अलवर के मॉब लिंचिंग की घटना पर राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि, अगर पुलिस वालों की गलती पाई गई तो उन पर कड़ी कार्यवाही होगी। वहीं बीकानेर से सांसद व केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने मॉब लिंचिंग पर विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं के पीछे किसी की साजिश है। मेघवाल ने कहा कि मोदी जी जितने लोकप्रिय होंगे, देश में उतनी घटनाएं बढ़ेंगी। जैसे बिहार चुनाव में अवार्ड वापसी गैंग। उत्तर प्रदेश में मॉब लिंचिंग और अब लोकसभा का चुनाव आ रहा है तो असहिष्णुता जैसा कुछ नया आएगा।

वहीं एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने घटना को लेकर मोदी सरकार पर प्रहार किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, गाय को संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत जीने का अधिकार है। और एक मुस्लिम को मारा जा सकता है। क्योंकि उसके जीने का मौलिक अधिकार नहीं है। मोदी शासन के 4 साल लिंचराज। वहींं मृतक अकबर खान की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अकबर के हाथ और पैर की हड्डी टूटी हुई थी। और उसके शरीर पर 12 जगह चोट के निशान मिले हैं। इस मामले में पुलिस की भी गलती सामने आई है। अलवर के पुलिस अधीक्षक राजेंद्र सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि, हम मामले की जांच कर रहे हैं और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

Facebook Comments