अगले दो दिन तक होगी तेज बरसात, दिल्ली में बारिश से बदला मौसम का मिजाज़

राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को हुई  तेज बारिश से मौसम सुहाना हो गया। हालांकि मध्य और दक्षिण दिल्ली में भारी बारिश की वजह से कुछ इलाकों में यातायात प्रभावित हुआ।  मौसम विभाग के अनुसार 11 और 12 अगस्त को राजधानी में तेज बारिश के आसार हैं। विभाग ने कहा कि आर्द्रता (humidity) 75 फीसदी रहेगी। मौसम विभाग के मुताबिक अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है जबकि न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहेगा। लुटियंस दिल्ली, सरिता विहार, लाजपत नगर और साकेत में भारी बारिश हुई जिससे सड़कों पर पानी जमा हो गया और कुछ इलाकों में यातायात बाधित हुआ। गुरूवार को अधिकतम तापमान 36.2 डिग्री सेल्सियस मापा गया था जो मौसम में औसत से दो डिग्री अधिक है जबकि न्यूनतम तापमान 28.3 डिग्री दर्ज किया गया जो औसत से एक डिग्री अधिक है।

यूपी में भी भारी बारिश होने का अनुमान

उत्तर प्रदेश में जल्द ही मौसम के करवट लेने की सम्भावना है और अगले 24 घंटों के दौरान राज्य में अनेक स्थानों पर बारिश हो सकती है। मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में ज्यादातर स्थानों पर और पश्चिमी भागों में अनेक इलाकों में बारिश होने का अनुमान है। पूर्वी क्षेत्रों में यह सिलसिला अगले 48 घंटे तक जारी रह सकता है। प्रदेश में मानसून जुलाई के अंत से इस महीने के पहले सप्ताह तक खासा सक्रिय रहा था और इस दौरान सूबे में ज्यादातर स्थानों पर बारिश हुई थी। साथ ही लोगों को गर्मी से भी खासी राहत मिल गई थी। हालांकि पिछले कुछ दिनों से मौसम साफ है और लोगों को उमसभरी गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।

पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। इस अवधि में सहारनपुर में तीन सेंटीमीटर, बहराइच और मऊरानीपुर में दो-दो तथा राबर्टसगंज में एक सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गयी। इस बीच, केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में घाघरा, शारदा और सई समेत विभिन्न नदियां जगह-जगह उफान पर हैं। खासकर घाघरा ने रौद्र रूप अपनाया है। यह नदी एल्गिनब्रिज (बाराबंकी), अयोध्या तथा तुर्तीपार (बलिया) में यह खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

शारदा नदी का जलस्तर पलियाकलां में और सई नदी रायबरेली में लाल निशान को पार कर गयी है। गंगा नदी का जलस्तर नरौरा (बुलंदशहर), फतेहगढ़, गुमटिया (कन्नौज) तथा अंकिनघाट (कानपुर देहात) में रामगंगा नदी का जलस्तर डाबरी (शाहजहांपुर) में, यमुना का जलस्तर प्रयागघाट (मथुरा) में, राप्ती नदी का जलस्तर बलरामपुर और बांसी (सिद्धार्थनगर) तथा क्वानो नदी का जलस्तर चंद्रदीपघाट (गोण्डा) में खतरे के निशान के पास पहुंच गया है।

Facebook Comments