यदि आप भी निर्वस्त्र होकर स्नान करते है तो ये लोग आपको देखते है

क्या आप स्नान करते वक्त अपने शरीर पर तौलिया या फिर कोई अन्य वस्त्र को लपेटते नहीं है तो यह लेख सिर्फ आपके लिए ही है क्यूंकि ऐसा करके आप कितनी बड़ी गलती कर रहे हो इसके बारे में आपको अंदाजा भी नहीं होगा. यदि आप इस लेख में जानेंगे की क्यों निर्वस्त्र होकर हमें कभी भी स्नान नहीं करना चाहिये तो आप आगे से ऐसा कभी भी नहीं करेंगे. तो चलिए आगे जानते है की हमें ऐसा कक्यों नहीं करना चाहिए.

यदि आप भी निर्वस्त्र होकर स्नान करते है तो ये लोग आपको देखते है

Third party image reference

हम आपको निर्वस्त्र होकर स्नान करने का परिणाम बतादे उससे पहले आपको एक बात बता देते है की भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं चिर हरण की लीला में सभी लोगो को समजाया था की हमें कभी भी बिना वस्त्र धारण करे स्नान नहीं करना चाहिए.

Third party image reference

वैसे आपको जानकारी के लिए बतादे की पद्मपुराण और श्रीमद्भाग्वत कथा में चीर हरण की कथा का उल्लेख करते हुए कहा गया है की जब गोपियाँ अपने वस्त्र उतारकर स्नान करने के लिए जल में गयी थी अब कृष्ण ने गोपियों के वस्त्र चुरा लिए थे, बाद में सभी गोपिया वस्त्र खोजती है पर उसे नहीं मिलता है ऐसे में श्री कृष्ण कहते है की तुम सभी के वस्त्र वृक्ष पर है पानी से बाहर निकलो और अपने वस्त्र को ले लों.

Third party image reference

अब निर्वस्त्र होने के कारण गोपियाँ जल से बाहर निकलने में अपनी असमर्थता जताती हैं और कहती है की निर्वस्त्र होकर जल से कैसे बाहर आ सकती है, अभी श्री कृष्ण कहते है की जब तुम निर्वस्त्र होकर जल में गयी थी तभी तुम्हे लज्जा नहीं आई थी. तो गोपियाँ बताती है की उस वक्त यहाँ पर कोई भी नहीं था और तुम भी नहीं थे.

अब श्री कृष्ण बताते है की तुम ऐसा सोचती हो की यहाँ पर तुम्हारे आलावा और कोई भी नहीं था तो तुम गलत हो क्यूंकि यहाँ पर आसमान में उड़ते पक्षियों और जमीन पर चलने वाले सेकड़ो जीवों ने तुम्हे निर्वस्त्र देखा है. जब तुम निर्वस्त्र हो कर जल में गयी तभी जल रूम में मौजूद वरुण देव ने भी तुमने निर्वस्त्र देखा है और तुमने उसका अपमान किया है.

आपकी जानकारी के लिए बतादे की गरुड़ पुराण में भी ऐसा बताया गया है की स्नान करते वक्त आपके पूर्वज आपके आस-पास होते है और आपके वस्त्रो से गिरने वाले जल को वो ग्रहण करते है जिससे उसकी तृप्ति होती है. यदि आप निर्वस्त्र होकर स्नान करते है तो आपके पितृ भी आपसे नाराज हो जायेंगे जिसके कारण आपको बल, धन और सुख नष्ट हो जाता है इसीलिए हमें कभी भी निर्वस्त्र होकर स्नान नहीं करना चाहिए.

तो अब आप समज ही गये होंगे की क्यों हमें निर्वस्त्र होकर स्नान नहीं करना चाहिए और इसका परिणाम क्या आ सकता है.

Facebook Comments