ऑनलाइन प्यार के चक्कर में बुजुर्ग ने गंवा दिए 35 लाख, इस तरह हुई थी दोस्ती

प्यार में अंधा होना अक्सर भारी नुकसान को दावत देता है। यह बात 66 साल के एक पूर्व अविवाहित बैंकर को काफी देर में समझ आई। इस बीच उन्हें 35 लाख रुपये की चपत लग चुकी थी। यह पैसा उन्होंने एक फेसबुक फ्रेंड के चक्कर में आकर गंवाया, जिसने कहा था कि वह लंदन से सिर्फ उनके लिए भारत आ रही है। महिला की बातों में आकर रिटायर अधिकारी ने उसे अपनी 13 लाख की जमा पूंजी दे दी। इतना ही नहीं शख्स ने इधर-उधर से 22 लाख रुपये उधार लेकर भी महिला के द्वारा बताए गए खातों में जमा कर दिए थे।

इस तरह हुई दोस्ती
19 मई को पूर्व बैंकर को जेनी एंडरसन नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई। महिला ने कहा था कि वह लंदन में अपनी मां के साथ रहती हैं, जहां उनकी जूलरी की दुकान है। महिला ने शख्स को यह भी कहा कि वह अक्सर भारत समेत कई देशों में घूमती रहती है। फेसबुक के बाद धीरे-धीरे वॉट्सऐप पर बातें होने लगीं।

इस बीच महिला ने शख्स को लंदन आने के लिए भी कहा। लेकिन अकेले होने के चलते उन्होंने असमर्थता जाहिर की। इसके बाद 29 मई को जेनी ने कहा कि वह उनसे मिलने के लिए भारत आ रही है। जेनी ने कहा था कि वह मुंबई में लैंड करेगी और वहां से फ्लाइट लेकर दिल्ली आएगी।

इसी बीच 1 जून को बुजुर्ग को एक फोन आया। दूसरी तरफ से पूजा नाम की महिला बोल रही थी। अपने आप को इमीग्रेशन डिपार्टमेंट का बतानेवाली पूजा ने बुजुर्ग से कहा कि उनकी दोस्त जेनी को मुंबई एयरपोर्ट पर पकड़ लिया गया है। पूजा ने कहा था कि जेनी अपने साथ 68 लाख रुपये की विदेशी करंसी लेकर आई थीं और उसके बारे में पूछने पर सही से जवाब नहीं दे पा रही थीं।

फिर पूजा ने बुजुर्ग की बात जेनी से करवाई। बुजुर्ग के मुताबिक, जैनी फोन पर तेज-तेज रोने लगी और बोली कि वह फिलहाल फाइन का पैसा भर दें और यह पैसा दिल्ली आते ही उससे ले लें। यहां जेनी की बातों में आना बुजुर्ग को फंसवा गया। फिर जेनी की बातों में आकर उन्होंने 1 से 15 जून के बीच उसके द्वारा बताए गए अलग-अलग अकाउंट में 35 लाख रुपये जमा करवा दिए। इस बीच कुमार सेन नाम का शख्स भी बुजुर्ग पर जुर्माने के पैसे जल्दी भरने का दबाव बनाता था।

लेकिन पैसे देने के बाद भी जेनी बुजुर्ग के पास नहीं आई। सोशल मीडिया पर संपर्क बनाने की हर संभव कोशिश फेल हुई। इसपर बुजुर्ग को शक हुआ। फिर उन्होंने जाकर डीएलएफ 1 पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज करवाई। फुलहाल पुलिस साइबर सेल की मदद से केस को सुलझाने में लगी है।

Facebook Comments