मरने से पहले सम्राट सिकंदर ने जाहिर की थीं ये 3 अंतिम इच्छाएँ, अवश्य जानें

सम्राट सिकंदर के बारे में हम सभी जानते हैं | अपने पिता की मृत्यु के बाद सिकंदर पूरे संसार को फ़तेह करने निकल पड़ा था |सिकंदर की एक ही ख्वाहिश थी कि वह संसार के सभी राज्यों को जीतकर अपने अधीन बना ले। सिकंदर ने कई राज्यों पर अपना अधिपत्य स्थापित कर लिया लेकिन भारत में आने के बाद उसे अपने घुटने टेकने ही पड़े |सिकंदर ने मरते वक्त केवल 3 इच्छाएँ जताई थीं, जो आज हम आपको बताने वाले हैं।

मरने से पहले सम्राट सिकंदर ने जाहिर की थीं ये 3 अंतिम इच्छाएँ, अवश्य जानें

सिकंदर की प्रथम इच्छा थी कि जिस रास्ते से उसका जनाज़ा निकले वहाँ ढेर सारा धन बिछा दिया जाए, जो वह दुसरे राज्यों से हासिल की थी। ताकि लोग यह देख सकें कि कितना व्यक्ति कितनी भी धन संपदा क्यों न हासिल कर ले लेकिन मृत्यु के बाद सब कुछ बेकार हो जाता है |

सिकंदर ने कहा था, कि जिस वैद्यों ने उसका इलाज किया वही उसको मरने के बाद कन्धा देंगे ताकि दुनिया देख सके कि दुनिया के किसी भी व्यक्ति में इतनी शक्ति नहीं जो मृत्यु को हरा सके |

सिकंदर महान की अंतिम इच्छा यह थी, कि जब उसका जनाजा निकले तो उसके दोनों हाथ बाहर खुले पड़े हों, ताकि लोग यह जान सकें कि इतना धन होने के बाद भी मनुष्य को अंत समय में खाली हाथ ही लौटना पड़ता है अर्थात सभी को खाली हाथ आना है और खाली हाथ ही जाना है | इसलिए किसी लालसा में अपना जीवन व्यर्थ न करें | दोस्तों अगर आपको हमारी यह खबर अच्छी लगे तो कमेंट करके बताएं और लाइक और शेयर जरूर कीजिए और आगे भी ऐसे ही खबर पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसी खबर आपके लिए लाते रहते हैं।

Facebook Comments