मार्च तक 1 लाख लोगों को मिलेगी रेलवे की नौकरी

रेलवे में चल रहे भर्ती अभियान के तहत एक लाख से अधिक कर्मचारियों की नियुक्ति अगले साल मार्च तक कर ली जाएगी। रेलवे की प्लानिंग है कि इसी साल सितंबर से नवंबर के बीच परीक्षाएं पूरी कर ली जाएंगी। उसके बाद नतीजे घोषित करके आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस बार रेलवे ने यह भी तय किया है कि वह भर्ती परीक्षा की कसौटी पर खरा उतरने वालों की एक वेटिंग लिस्ट भी बनाएगी, ताकि बाद में जरूरत हो तो वेटिंग लिस्ट वाले युवाओं को नौकरी दी जा सके।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी के मुताबिक, रेलवे की भर्ती प्रक्रिया अपनी तय टारगेट के साथ चल रही है। उन्होंने बताया कि लगभग एक लाख पदों पर भर्ती के लिए दो करोड़ 37 लाख आवेदन मिले हैं। अब इन आवेदनों की छंटाई की जा रही है। रेलवे ने तय किया है कि 10 जुलाई तक छंटाई की यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। उसके बाद सही मायनों में पता चलेगा कि इन पदों के लिए कितने उम्मीदवार हैं।

इसके बाद रेलवे की प्लानिंग है कि अगस्त में रोल नंबर और परीक्षा केंद्रों के चयन के बाद सितंबर से नवंबर के बीच अलग-अलग पदों के लिए परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा। इन परीक्षाओं के नतीजों के साथ ही योग्य उम्मीदवारों के फिजिकल और साइको टेस्ट होंगे। यह प्रक्रिया भी जनवरी तक पूरी कर ली जाएगी और फिर मार्च से नियुक्तियां शुरू हो जाएंगी।

इस बार वेटिंग लिस्ट भी
लोहानी के मुताबिक, इस बार वेटिंग लिस्ट भी बनाई जाएगी। मसलन, अगर किसी खास पद के लिए 20 हजार वीकेंसी है और योग्य पाए गए उम्मीदवारों की संख्या अधिक है, तो बचे हुए उम्मीदवारों की वेटिंग लिस्ट बना ली जाएगी। इससे अगर नियुक्ति के वक्त कुछ लोग नौकरी अस्वीकार करते हैं, तो उनकी जगह वेटिंग लिस्ट से उम्मीदवार ले लिए जाएं। इसके अलावा अगर बाद में भी कुछ वैकेंसी निकलती हैं, तो रेलवे को नए सिरे से आवेदन मंगाने या परीक्षाएं आयोजित करने की जरूरत नहीं होगी। वेटिंग लिस्ट से ही नाम लेकर उन्हें नियुक्ति के लिए बुलाया जा सकेगा।

Facebook Comments