राखी को किया GST से बाहर, रक्षाबंधन से पहले मोदी सरकार का बड़ा तोहफा

रक्षा बंधन से पहले वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एक बड़ा तोहफा देते हुए कहा है कि वह राखी को फ़िलहाल जीएसटी के दायरे से बाहर कर रहे हैं। रविवार को वित्त मंत्री ने कहा कि ”रक्षाबंधन आ रहा है, हमने जीएसटी से राखी को बाहर कर दिया है और गणेश चतुर्थी से आगे सभी प्रकार की मूर्तियों, हस्तशिल्प और हथकरघा में भी छूट दी गई है।” उन्होंने कहा कि ये सभी चीजें हमारी विरासत हैं और हमें इसके प्रति सम्मान दिखाना चाहिए।

सरकार की ओर से यह कदम इसलिए भी खास है क्योंकि गणेश चतुर्थी और रक्षा बंधऩ पर घरों में काफी खरीदारियां होती हैं। इसलिए त्योहारी मौसम में इनसे जुड़ी चीजों पर से जीएसटी की छूट मिलना किसी राहत से कम नहीं है। बता दें कि इस साल राखी 26 अगस्त को है।

PunjabKesari

बड़े-बड़े देशों में भारत जैसी हिम्मत नहीं
पीयूष गोयल ने कहा कि जीएसटी लागू करना हमारी सरकार का हिम्मतभरा बड़ा कदम था। बड़े-बड़े देश कर सुधार के ऐसे साहसिक फैसले लेने से पहले डरते हैं। लेकिन हमारी सरकार ने हिम्मत दिखाई और इसे लागू किया।

PunjabKesari

GST काउंसिल ने यह फैसला लिया था
जीएसटी काउंसिल ने 21 जुलाई को टीवी, फ्रिज, एसी, वॉशिंग मशीन जैसे 17 कंज्यूमर ड्यूरेलबल इलेक्ट्रॉनिक गुड्स समेत 100 उत्पादों पर टैक्स घटा दिया। वहीं, सैनेटरी नैपकिन, बिना सोने-चांदी वाली राखियां, संगमरमर-लकड़ी से बनी मूर्तियों और फूलझाडू को टैक्स फ्री कर दिया। पेट्रोल में इस्तेमाल होने वाले एथेनॉल पर जीएसटी 18% से घटाकर 5% किया गया। नई टैक्स दरें 27 जुलाई से लागू हो गई हैं। इससे पहले नवंबर 2017 में 213 सामान और जनवरी 2018 में 54 सेवाएं और 29 चीजें सस्ती हुई थीं।

PunjabKesari

Facebook Comments