J&K में फिर हुआ राष्ट्रगान का अपमान, छात्रों ने की ये गंदी हरकत

सवा सौ करोड़ लोगों के देश भारत में भारतीय राष्ट्रगान और राष्ट्रीय झंडे का अपमान होना बहुत ही शर्म की बात हैं। जब भी देश के किसी भी कोने में राष्ट्रगान गाया जाता है तो उस वक्त भारतीय संविधान के अनुसार राष्ट्रगान के दौरान वहां मौजूद प्रत्येक व्यक्ति को सावधान मुद्रा में खड़े रहने के कड़े निर्देश हैं। लेकिन जम्‍मू-कश्‍मीर की शेर-ए-कश्‍मीर यूनिवर्सिटी में गुरुवार (5 जुलाई) को दीक्षांत समारोह में हमारे राष्ट्रगान जन गण मन का अपमान किया गया।  वहां उपस्थित कुछ  छात्र-छात्राएं  ऐसे थे जो राष्ट्रागान गाने के लिए खड़े नहीं हुए थे।

इसका एक वीडियो एक एजेंसी ने जारी किया हैं। जिसमें दिखाई दे रहा है कि जब राष्ट्रगान शरु हुआ तो कई सारे छात्र अपनी सीट से खड़े हो गए लेकिन उनमें से कुछ ऐसे भी थे जो अपनी सीट पर बैठे हुए थे। ये वही यूनिवर्सिटी है जहां पर पीएम नरेंद्र मोदी एक वक्त आए थे।

आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब जम्मू कश्मीर में राष्ट्रगान का अपमान किया गया हो। इससे पहले भी इसी पिछले साल नवंबर में जम्‍मू के राजौरी स्थित यूनिवर्सिटी में कुछ ऐसी ही घटना हुई थी। जहां बाबा गुलाम शाह बादशाह यूनिवर्सिटी के दो छात्र राष्‍ट्रगान के समय खड़े नहीं हुए थे। इसके बाद उन पर राष्‍ट्रगान के अपमान का केस दर्ज किया गया था।इसी साल मार्च में केरल के कोच्चि में स्‍टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के एक नेता भी राष्ट्रगान के वक्त खड़े नहीं हुए थे। जिसके बाद उन्हें  सस्‍पेंड कर दिया गया था।

जब यह वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया तो लोगों ने इस छात्रों के खिलाफ रोष प्रकट किया वहीं इस मामले में बीजेपी नेता कविंद्र गुप्ता ने कहा हैं कि आरोपी छात्रों के खिलाफ यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।  यही नहीं भाजपा नेता ने तो राष्ट्रगान का अपमान करने वाले छात्रों की डिग्रियां तक रद्द करने की मांग की है।
Facebook Comments