UPTET 2018: यूपी टीईटी परीक्षा में स्टेटिक मजिस्ट्रेट रखेंगे नजर, बरती जाएगी विशेष सावधानी

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए इस बार नकल और बेईमानी रोकने के लिए विशेष सावधानी बरती जा रही है। इस बार यूपीटीईटी के प्रत्येक जिले के प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर अलग-अलग स्टैटिक मजिस्ट्रेट को लगाया जाएगा। ये स्टैटिक मजिस्ट्रेट प्रत्येक पाली के लिए होंगे और कोषागार के डबल लॉक से प्रश्नपत्र को लेकर परीक्षा केंद्र पर जाएंगे।

यही नहीं इन्हीं की निगरानी में  केंद्र व्यवस्थापक, दो कक्ष निरीक्षकों व पर्यवेक्षक के सामने पेपर खुलवाएंगे। इस पूरी प्रक्रिया की वीडियो रिकार्डिंग भी कराई जाएगी। यह बातें सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताईं। इसके अलावा शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2018 में एसटीएफ और विजिलेंस की टीमों को लगाया गया है।

18 नवंबर को शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित कराई जाएगी। अधिकतर केंद्रों पर होने वाली परीक्षा के लिए पर्यवेक्षक व स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर दी गई है। परीक्षा दो पालियों में होगी तो इसमें सभी पर्यवेक्षक व स्टेटिक मजिस्ट्रेट पूरी तरह से नजर रखेंगे। केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। यदि परीक्षा में किसी भी प्रकार की लापरवाही सामने आई तो इसकी जिम्मेदारी सीधे केंद्र व्यवस्थापक की होगी।

Facebook Comments