सलामी का नया तरीका…हापुड़ के इस शख्स ने 580 शहीद जवानों के नाम किया अपना शरीर, आप भी देखें कैसे

उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के अभिषेक गौतम ने कुछ ऐसा किया है जिसे देखकर आपको गर्व का एहसास होगा। अभिषेक गौतम ने अपने देश के लिए हुए शहीद जवानों को याद रखने के लिए अपने शरीर पर उनके नाम गुदवा लिए है और देश के कई चेहरों के टैटू भी बनवाएं है। अभिषेक के शरीर पर ये नाम शहीदों के लिखे हुए है और नाम के साथ ही देश के कई चेहरों के टैटू और शहीद स्मारक के साथ इंडिया गेट का चित्र भी है। बताया ये भी जाता है कि उनको डॉक्टरों ने ऐसा ना करने की सलाह दी थी, क्योंकि डॉक्टर उन्हें ऐसा करने पर हानिकारक बता रहे थे, लेकिन अभिषेक ने बिना परवाह किए अपना शरीर वीर सपूतों के नाम कर दिया।

समाज को देना था संदेश

आपको बता दें कि अभिषेक जनपद हापुड़ अपने परिवार के साथ रहते हैं। हापुड़ से ही उन्होंने पढ़ाई की है, उनका कहना है कि मैं अपने समाज को संदेश देना चाहता हूं कि किसी भी चीज को अच्छे से करना है उसको निभाना है तो उसके लिए बहुत सारे आइडियल होने चाहिए। मैं मानता हूं कि हमारे अच्छे आइडियल हमारी फौज हमारी सेना से अच्छे आइडियल नहीं मिल सकते हैं। इसलिए मैने ऐसा सोचा कि जनता के समक्ष मैसेज जाए कि हम अपने आइडियल को कैसे फॉलो कर सकते हैं, कैसे प्यार कर सकते है और आज के टाइम में लोगों को सबसे अच्छा लगता है कि अगर किसी को प्यार करते हैं तो उनके टैटू बनवाते हैं, तो मैंने उसी प्यार को दर्शाने के लिए लोगो में संदेश पहुंचाने के लिए ऐसा किया है।

 

युवाओं को है ये समझने की जरूरत

युवा समझे की जवान हमारी व हमारे देश की सुरक्षा करते हैं। हमारे देश के लिए जान तक दे देते हैं तो हमें भी उनके प्रति कुछ करना चाहिए। इन सब चीजों को महसूस करते हुए मैंने अपने शरीर पर टैटू बनवाए है, उनका कहना है कि मेरे शरीर पर करीब 580 शहीद जवानों के नाम लिखे हुए हैं, फिलहाल में ही 15 नाम अभी लिखवाए गए हैं, जिनके परिवार से मैं अभी मिल भी चुका हूं। उन्होंने अपने शरीर पर 28 जुलाई 2018 को शहीदों के नाम लिखवाए थे और करीब 12 दिन लगे थे शहीदों के नाम लिखने में, साथ ही 11 चेहरों सहित इंडिया गेट और शहीद स्मारक के चित्र भी बने हैं।

 

सेना हमें जीना सिखाती है

इनका कहना है कि अगर कोई सेलिब्रिटी आता है तो लोगों की लाखों की भीड़ दूर से फोटो लेने लगती है, चाहे भले ही सेलिब्रिटी दूर से फोटो में छोटा नजर आए। हम उस फोटों को लेने के लिए पूरी कोशिश करते हैं, तो मेरा यही मानना है कि सही मायनों में अगर कोई सेलिब्रिटी है जो सही तरीके से हमें जीना सिखा रहे हैं, वह हमारे फौजी हैं। अभिषेक ने बताया कि जब वह कक्षा दो में थे उन्हें एक कवि सम्मेलन में कविता पढ़ने का मौका मिला था। जब उन्होंने उस कविता को पढ़ा और 4 लाइन को पढ़कर बहुत कुछ सोचने पर मजबूर कर दिया।

Facebook Comments