शादी के दिन लड़का नही कर पाया ये काम, तो लड़की ने लिया यह निर्णय

शादी का दिन किसी भी लड़की के लिए ज़िन्दगी का सबसे बड़ा दिन होता है। इस दिन के लिए हर लड़की ना जाने कितने सपने देखती है और क्या क्या ख्याल अपने दिल और दिमाग मे लाती है। इस दिन का उसे बेसब्री से इंतज़ार होता है। मगर आज हम आपको जो खबर बताने वाले है वो सुनकर आपके पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक जाएगी।बात की गोपनीयता बनाये रखने के लिए हम यहां पर किसी प्रकार के नाम अथवा स्थान की घोषणा नही कर सकते। हम सभी के मान और इज्जत का सम्मान करते है।

इसलिए हम किसी स्थान अथवा व्यक्ति का नाम नही बता रहे। किंतु यह पूरी तरह से एक सच्ची घटना है। दहेज के सांप हर जगह अपनी जहरीली फन फैलाये खड़ा है। न जाने कितने ही रिश्ते नाते और कितनी ही लड़कियों की ज़िंदगी यह खत्म कर चुका है। ऐसा ही कुछ एक बार फिर हुआ और एक और लड़की के अरमानों पर पानी फिर गया। किंतु लड़की की समझदारी और उसके साहस ने उसको बर्बाद होने से बचा लिया। शादी के बाद दूल्हा दुल्हन कोहबर में रस्म अदा करने पहुंचे। इस दरम्यान वर पक्ष की महिलाओं ने दूल्हे को कुछ रूपये देकर गिनने को कहा गया।

रुपये हाथ में पकड़ते ही युवक की हालत खराब हो गई और वह थर थर कांपने लगा। काफी प्रयास के बाद भी वह रुपयों को गिन नहीं पाया। इतने में दुल्हन समेत मौके पर मौजूद अन्य महिलाएं उसे अनपढ़ और मंदबुध्दि बताने लगीं। इसके बाद दुल्हन ने आव देखा न ताव दूल्हे के साथ ससुराल जाने से साफ इंकार कर दिया।यह बात घर के अन्य सदस्यों को पता चली तो वर समेत बारातियों को बंधक बना लिया। रिश्ता तोड़ते हर दहेज और शादी में खर्च हुए रूपये की मांग करने लगे। पूरी रात दोनों पक्षों में पंचायत हुई लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। दोपहर में इसकी सूचना थाने पहुंची तो पुलिस मौके पर पहुंच गई। वधू पक्ष से बात करने के बाद बारातियों को मुक्त कराया गया। फिर दोनों पक्षों को थाने लाकर सुलह समझौता कराया गया। जिसमें लड़का पक्ष ने 23 हजार रूपये के गहने और 13 हजार रूपये नकद लड़की पक्ष को दिया। तब कहीं जाकर बाराती बैरंग वहां से लौट सके।

Facebook Comments