स्टार्टअप योजना के लिए 250 करोड़ का रखा है बजट

 प्रदेश में शुक्रवार को ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ का उद्घाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि 22 करोड़ जनसंख्या वाले प्रदेश के लोगों को रोजगार देना एक चुनौती थी। हमें प्रदेश की सुरक्षा और छवि को बदलने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीएम योगी ने कहा कि जब उन्होंने उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी संभाली उस समय उत्तर प्रदेश की क्या स्थिति थी यह बताने की जरूरत नहीं है। उस समय युवाओं के लिए कुछ करने का संकल्प लिया गया, कि वह कैसे आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा मैं बार-बार इस बात को कहता हूं कि प्रकृति और परमात्मा का आशीर्वाद उत्तर प्रदेश पर है।

सीएम ने कहा कि राज्यपाल ने हमसे पूछा कि हम लोग अपने राज्य का स्थापना दिवस क्यों नहीं मनाते हैं। लोग यहां अपने परिवार का और अपना जन्मदिन मनाते हैं, लेकिन जिस प्रदेश में रहते हैं उसका स्थापना दिवस नहीं मना रहे।

24 फरवरी 1950 से लेकर अब तक अपना स्थापना दिवस नहीं मनाया गया। तब हमने 24 जनवरी 2018 को पहली बार उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस मनाने का कार्य किया। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट पर हम तब तक काफी काम कर चुके थे। इस स्कीम की शुरुआत उसी दिन की गयी।

सीएम ने कहा कि मेरा मानना है कृषि के बाद सबसे ज्यादा संभावना इस परंपरागत उद्योग में ही है। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को इसी योजना के साथ जोड़ने जा रहे हैं। हमारी टीम को हर जिले में कुछ न कुछ जरूर मिला।

आखिर इतना समृद्ध प्रदेश होने के बावजूद यह इस बदहाली को कैसे पहुंचा। लोगों ने कहा था कि इंवेस्टर्स समिट ऐसे ही हो जाता है।

उसी इन्वेस्टर्स समिट के 6 महीने बाद हमारी सरकार में 60 हजार करोड़ का इन्वेस्टमेंट हुआ। योगी ने कहा कि सरकार ने अलग से स्टार्टअप योजना के लिये 250 करोड़ का बजट रखा है।

Facebook Comments