58 साल के टीचर ने 15 साल की छात्रा का रेप कर बना दिया मां

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में एक स्‍कूल टीचर ने 10वीं की छात्रा से बलात्‍कार कर दिया। बीते हफ्ते 15 वर्षीय पीडि़ता ने एक बच्‍ची को जन्‍म दिया है। इस हादसे के बाद से पीडि़ता इस कदर दुखी है कि वह अपनी बच्‍ची को देखना तक नहीं चाहती और उसे खुद से दूर करना चाहती है। पीडि़ता के पिता ने अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा कि मेरी बेटी अभी खुद बहुत छोटी है। वो दसवीं की परीक्षा की तैयारी करना चाहती है लेकिन उसे मां का धर्म निभाने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि नवजात से हमारी कोई भावना नहीं है। हमने अबतक उसका नाम तक नहीं रखा है और हम उसे खुद से दूर करना चाहते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला सितंबर महीने में सामने आया था। पेट दर्द की शिकायत को लेकर जब पीडि़ता को इलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया गया तो वहां पता चला कि वो 7 महीने की गर्भवती है। उसके बाद पीडि़ता ने परिजनों को बताया था कि स्‍कूल में इतिहास के टीचर प्रवेश कुमार ने उसका रेप किया था। मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी थी

सोमवार को बच्ची को डीएनए टेस्ट के लिए सरकारी अस्पताल लाया गया था। पीड़िता ने बताया था कि आरोपी ने उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर कई बार उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। 57 वर्षीय आरोपी को पुलिस ने पीड़िता के साथ रेप करने के मामले में गिरफ्तार किया और वह 27 सितंबर से जेल में बंद है। इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि नवजात बच्ची के डीएनए टेस्ट से आरोपी के खिलाफ सख्त केस बनाने में मदद मिलेगी। केम्पटी पुलिस थाने के एसओ मनोज नेगी ने बताया डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट आने में तीन महीने लगेंगे जिसके बाद हमें इस केस में ज्यादा मदद मिलेगी।

Facebook Comments