दुर्भाग्यपूर्ण बताया,महाभियोग को सुप्रीम कोर्ट ने…..

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चीफ जस्टिस पर महाभियोग के बारे मे हो रही चर्चा को लेकर चिंता प्रकट कर इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.कोर्ट ने कहा इन घटनाओं से हम हैरान और परेशान हैं. कोर्ट ने इस बारे में अटार्नी जनरल से 7 मई तक राय मांगी है .

आपको जानकारी दे दें कि इस याचिका में एक महत्वपूर्ण बिंदु की ओर ध्यान आकृष्ट किया गया है, कि जब तक संसद में प्रस्‍ताव नही लाया जाता, तब तक संसद में भी इसको लेकर बहस नही हो सकती, तो फिर मीडिया में ये सब कैसे प्रसारित हो रहा है.इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने अटार्नी जनरल से 7 मई तक यह राय मांगी है कि क्या मीडिया और सांसदों पर रोक लगाई जा सकती है.एक ओर विपक्ष द्वारा महाभियोग की तैयारी और दूसरी तरफ कोर्ट की इस कार्रवाई ने इस मामले को और उलझा दिया है.

उल्लेखनीय है कि जस्टिस एके सीकरी की पीठ ने इस बारे में वकील मीनाक्षी अरोड़ा की मीडिया पर न्यायपालिका को बदनाम करने वाली ख़बरें छापने से रोकने की मांग वाली याचिका पर अटार्नी जनरल से राय मांगी है.याचिकाकर्ता ने इस संदर्भ मे विधि आयोग की रिपोर्ट का संदर्भ देते हुए कहा कि संविधान मे भी ऐसी ख़बरें छापने पर रोक है, क्योंकि इससे न्यायिक कार्य प्रभावित होता है.

 

 

Facebook Comments