ट्रांसजेंडर महिला से लेडीज टॉयलेट के लिए मांगा गया ID कार्ड

एक ट्रांसजेंडर महिला को यहां के एक रेस्तरां से बलपूर्वक बाहर कर दिया गया. उससे लेडीज टॉयलेट का इस्तेमाल करने के लिए आईडी मांगा गया, नहीं देने पर उसके साथ बुरा सलूक किया गया. मानवाधिकार के लिए काम करने वाली कार्यकर्ता चेरलोट क्लाइमर ने अपने साथ हुई घटना को ट्विटर पर बयां करते हुए कहा कि वह दोस्तों के साथ उत्तर-पश्चिम डी.सी. में क्यूबा लिबरा रेस्तरां और रूम बार में बैचलरेट पार्टी मना रही थी और जब उसने वहां बाथरूम का प्रयोग करने की कोशिश की, तो वहां के एक कर्मचारी ने उसे रोका.

क्लाइमर ने कहा, “कर्मचारी ने मुझसे मेरा आईडी मांगा
क्लाइमर ने कहा, “कर्मचारी ने मुझसे मेरा आईडी मांगा और जब मैंने उससे इसका कारण पूछा तो, उसने कहा कि महिलाओं के पास लेडीज टॉयलेट का इस्तेमाल करने के लिए आईडी कार्ड होना चाहिए.” उन्होंने कहा कि हॉल में मौजूद किसी भी महिला को रेस्टरूम का प्रयोग करने के लिए आईडी दिखाने के लिए नहीं कहा गया.

कलाइमर ने कहा, “मैनेजर ने मुझे पुलिस को कॉल करने की धमकी दी
क्लाइमर के अनुसार, जब वह रेस्टरूम से बाहर आई, तो कर्मचारी और मैनेजर ने उनसे कहा कि डी.सी. के कानून के अनुसार, महिला प्रसाधनों का प्रयोग करने के लिए महिला के पास आईडी कार्ड होना चाहिए. कलाइमर ने कहा, “मैनेजर ने मुझे पुलिस को कॉल करने की धमकी दी और दो बाउंसरों ने रेस्तरां से बाहर निकालने के लिए मेरी बांह पकड़ी और वहां से बलपूर्वक मुझे बाहर निकाल दिया.”

रेस्तरां की ओर से ट्विटर पर इस घटना के लिए माफी मांगी गई
बाद में, रेस्तरां की ओर से ट्विटर पर इस घटना के लिए माफी मांगी गई. कहा गया, “नियम के मुताबिक, हम सुरक्षित बाथरूम का समर्थन करते हैं और सभी लिंगों की पहचान वाले मेहमानों का स्वागत करते हैं. ” रेस्तरां प्रबंधन ने कहा, “यह काफी निराशाजनक है कि यह उस महीने में हुआ है, जब हम एलजीबीटीक्यू समुदाय को समर्थन देने के लिए जुट रहे हैं. ” वॉशिंगटन के मेयर मुरियल बोजर ने भी ट्वीट कर क्लाइमर से माफी मांगी.

Facebook Comments