यूपी-बिहार में अगले 48 घंटे भारी बारिश के आसार

मौसम विभाग ने बिहार और यूपी सहित कई राज्यों में अगले दो दिन तक तेज बारिश होने के आसार जताए हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित राज्य के अधिकांश जिलों में सोमवार की सुबह से तेज बारिश होने से जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया। वहीं मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों के दौरान पूर्वांचल के दर्जनभर जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की। इसके अलावा बिहार में मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक मानसून सक्रिय रहने का आसार जताया है।

बिहार: बारिश का दौर जारी
बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। पटना और आसपास के क्षेत्रों में सोमवार को भी बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने अपने पूवार्नुमान में कहा है कि अगले 24 से 48 घंटे के दौरान राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए रहने तथा हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। इस दौरान हालांकि राज्य में भारी बारिश की उम्मीद नहीं है।

पटना में बारिश के कारण कई जगहों पर हुए जलभराव से जिला प्रशासन ने सोमवार को राजधानी के सभी निजी और सरकारी स्कूलों कां बंद रखने का आदेश दिया है।

यूपी में परवान पर मानसून
लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, दिन में रुक-रुककर तेज बारिश होती रहेगी। अगले 48 घंटों के दौरान लखनऊ एवं पूर्वांचल के कई जिलों में भारी बारिश होगी। इससे तापमान में कमी दर्ज की जाएगी। गुप्ता के मुताबिक, मानसून पूरी तरह से उप्र में पहुंच चुका है। इसका असर दिखाई देगा। अगले सप्ताह के अंत तक अच्छी बारिश होने की पूरी संभावना है।

इस बीच भारी बारिश की वजह से रेल एवं हवाई सेवाओं पर भी असर पड़ा है। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, बारिश की वजह से कई रेलगाड़ियां अपने नियत समय से देरी से चल रही हैं। श्रमजीवी एक्सप्रेस, बरेली एक्सप्रेस, वाराणसी लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस सहित कई गाड़ियां घंटों देरी से चल रही हैं।

वहीं हवाई यातायात पर भी भारी बारिश का असर देखा जा रहा है। लखनऊ एयरपोर्ट के अधिकारियों के मुताबिक, बारिश की वजह से कई उड़ानों के समय में बदलाव किया गया है। कई उड़ानें रद्द की गई हैं, जिससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है।

ओडिशा में भी बारिश के आसार
ओडिशा सरकार ने सोमवार को कहा कि राज्य में बाढ जैसी किसी स्थिति की संभावना नहीं है। उधर, मौसम विभाग ने राज्य में अगले तीन दिन में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने का पूर्वानुमान लगाया है। विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘विभिन्न इलाकों में बारिश हो रही है लेकिन राज्य में बाढ जैसी कोई स्थिति नहीं है। सभी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से कम है।’

उन्होंने कहा कि हीराकुंड बांध के अधिकारियों ने बांध के सभी जलद्वार बंद कर दिये हैं। सोमवार सुबह नौ बजे हीराकुंड बांध का जलस्तर 610.60 फुट था जबकि इसकी क्षमता 630 फुट पानी की है। इस बीच, एसआरसी कार्यालय के सूत्रों ने कहा कि कई स्थानों पर बारिश हुई है तथा बीते 24 घंटों में राज्य में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश भी हुई है।

ताजा बुलेटिन में मौसम विभाग ने कहा कि क्योंझर, सुंदरगढ, संबलपुर, मल्कानगिरि, कोरापुट, नवरंगपुर, कालाहांडी में कई जगह तथा कुछ अन्य जिलों के कुछ स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

Facebook Comments