यूपी के इस पूर्व मुख्यमंत्री को भेजी जाएगी नोटिस

लोक निर्माण विभाग ने सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव के सरकारी बंगले की जांच रिपोर्ट बुधवार को राज्य सम्पत्ति विभाग को सौंप दी। विभाग ने रिपोर्ट सीएम दफ्तर भेज दी है। रिपोर्ट में पीडब्ल्यूडी के इंजिनियरों ने तोड़-फोड़ के कारण करीब 10 लाख रुपये के नुकसान का आकलन किया है। राज्य सम्पत्ति विभाग पूर्व सीएम को रिकवरी नोटिस देने की तैयारी कर रहा है।

सूत्रों के अनुसार 266 पेज की रिपोर्ट में पूर्व सीएम के बंगले में छत से लेकर किचन, बाथरूम और लॉन में तोड़-फोड़ की बात कही गई है। कई जगह फॉल्स सीलिंग तोड़कर बिजली का सामान निकाला गया। बाथरूम की फिटिंग, टाइल्स, एसी के स्विच बोर्ड, किचन से सिंक और टोंटी, बाथरूम की टोटियां और लॉन में लगी बेंच तक उखाड़ ली गईं।

इसके अलावा बंगले में बना जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बैडमिंटन कोर्ट और साइकल ट्रैक तोड़ दिया गया। पीडब्ल्यूडी के इंजिनियरों ने रिपोर्ट के साथ राज्य सम्पत्ति विभाग को एक सीडी भी दी है। इसमें बंगले की स्थिति की विडियोग्राफी है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सभी पूर्व सीएम के सरकारी बंगले खाली करवाए गए थे।

अखिलेश ने आठ जून को अपने बंगले की चाबी राज्य सम्पत्ति विभाग को सौंपी थी। इसके बाद सरकार द्वारा आंकलन करवाने पर तोड़फोड़ की बात समाने आई थी। राज्य सम्पत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ल ने कहा, ‘जांच रिपोर्ट हमें आज ही मिली है। इसे व्यापक तौर पर देखने के बाद ही हम कुछ कह सकते हैं कि कहां क्या नुकसान हुआ है। हम इसका सार तैयार कर रहे हैं।’

Facebook Comments