यूपी, उत्तराखंड में अगले चार दिन भारी बारिश के आसार, पटना में टूटा रिकॉर्ड

उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में गुरुवार से लगातार हो रही बारिश से करीब 60 लोगों की मौत हो गई। सर्वाधिक 11 मौतें सहारनपुर में हुई हैं। राहत आयुक्त कार्यालय के प्रवक्ता के मुताबिक पिछले दो दिनों में अब तक 49 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। सबसे ज्यादा 11 लोगों की मौत सहारनपुर में हुई है। बारिश से संबंधित घटनाओं में 42 लोग घायल हुये हैं जिनमें आगरा, मेरठ और सहारनपुर में पांच-पांच लोग घायल हुए हैं। मौसम विभाग के अलर्ट के अनुसार अभी अगले चार दिन तक भारी बारिश हो सकती है।

उत्तराखंड: अगले 60 घंटे भारी बारिश की आशंका
मौसम विभाग ने प्रदेश में अगले 60 घंटे भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। खासकर उत्तरकाशी, टिहरी, देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी और नैनीताल जनपदों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

बिहार: पटना में दो साल का रिकॉर्ड टूटा 
बारिश बिन बेहाल बिहार में सावन झूम के बरसा। शनिवार को पटना सहित राज्य के कई जिलों में मूसलाधार बारिश हुई। पटना में पिछले 24 घंटे झमाझाम बारिश होने से पिछले दो साल का रिकॉर्ड टूट गया।

हिमाचल प्रदेश: कैलाश यात्रा में दो बहे  
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में किन्नर कैलाश की यात्रा में गत शुक्रवार को तेज बारिश के बाद बाढ़ आने से दो लोग बह गए। जिला उपायुक्त अविनंद्र शर्मा ने बताया कि किन्नर कैलाश में करीब 60 श्रद्धालु फंसे हैं।

पांच राज्यों में बारिश और बाढ़ से 465 मरे

मानसून की बारिश से पांच राज्यों में बाढ़ और बारिश से हुई घटनाओं में अब तक कम से कम 465 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा 138 लोग महाराष्ट्र में मारे गए हैं। गृह मंत्रालय के नेशनल इमरजेंसी रेस्पॉन्स सेंटर (एनईआरसी) के अनुसार, असम में 10.17 लाख लोग बारिश और बाढ़ से त्रस्त हैं। इसमें से 2.17 लाख लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 12 टीम असम में राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हैं। पश्चिम बंगाल में बारिश और बाढ़ से कुल 1.61 लाख लोग प्रभावित हैं। राज्य में एनडीआरएफ की आठ टीम तैनात की गई हैं।

गुजरात में बाढ़, बारिश से प्रभावित 15,912 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। यहां एनडीआरएफ की 11 टीम राहत, बचाव कार्य में जुटी है। केरल में 1.43 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। दक्षिणी राज्य में राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की चार टीम तैनात की गईं, तीन को महाराष्ट्र में तैयार रखा गया है।

Facebook Comments