अगर आपको भी रखनी है अपनी हड्डियां फौलादी, तो करें ये योगाआसन

ऐसे में संतुलन में दिक्कत आना शुरु हो जाती है और ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है। उम्र के साथ हड्डियां कमजोर होती जाती हैं। जिसे कुछ योगासन की मदद से मजबूत किया जा सकता है। योग कई बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है और कई महत्वपूर्ण शारीरिक प्रक्रियाओं को बढ़ावा देता है और उत्तेजित करता है। योग मन को शांत करने में भी मदद करता है। तो आइए आपको उन योगासन के बारे में बताते हैं जो मन की शांति देने के अलावा हड्डियों को मजबूत करने में मदद करेंगें।

 

त्रिकोणासन: यह आसन आसानी से किया जा सकता है और इसके कई फायदे भी होते हैं। यह आसन रीढ़ की हड्डी में लचीलापन बढ़ाने और जठरांत्र को भी राहत दिलाने में मदद करता है। त्रिकोणासन पूरे शरीर को स्ट्रैच करने के साथ निचले शरीर और हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है।

 

उत्थित पार्श्वकोणासन: इस आसन में आपके एक तरफ से स्ट्रैच करके हड्डियों को मजबूत करने में मदद मिलती है। आप यह आसन हाथ को फर्श पर रखकर या घुटने पर रखकर कर सकती हैं। यह हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

 

परिवर्त त्रिकोणासन: यह एक और आसन है जो हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह ट्विस्टिड पोज हड्डी के उत्पादन को प्रोत्साहित करता है और फ्रैक्चर से बचने में सहायता करता है। स्ट्रैचिंग करने से हड्डियां मजबूत होती हैं।

 

Facebook Comments