हर रोज करें ये 3 योगासन, माइग्रेन के दर्द से मिलेगा छुटकारा

योग एक प्राचीन तकनीक है जो श्वसन तकनीकों और मुद्राओं के संयोजन के माध्यम से सम्पूर्ण रुप से जीवन को जीने के लिए प्रोत्साहित करता है।

सबसे अच्छी बात यह है कि माइग्रेन से लड़ने के लिए यह पक्ष प्रभाव से मुक्त विधि है। रोजाना कुछ मिनटों के लिए इन सरल से योग आसनों का अभ्यास आपके शरीर को आगामी माइग्रेन अटैक से लड़ने के लिए तैयार होने में मदद करेंगे:

हस्तपदासन
हस्तपदासन तंत्रिका तंत्र को स्फूर्ति से भर देता है। यह आसन रक्तसंचार को बढ़ाता है तथा मन को शांत करता है।

बालासन
बहुत उपयुक्त माना जाने वाला बाल मुद्रा आसन एक महान स्ट्रेस बस्टर है। इस आसन के दौरान आपके कूल्हों, जांघों, एड़ियों में हलका सा खींचाव महसूस होगा तथा यह आसन मन को शांत और आपको तनाव एवं थकान से मुक्त करता है। बाल मुद्रा आसन तंत्रिका तंत्र को भी शांत करता है व प्रभावी रूप से दर्द को कम करता है।

शवासन
श्वानासन मन को गहरे ध्यान में ले जा कर शरीर को फिर से स्फूर्ति से भर देता है। अपने दैनिक योग अभ्यास को कुछ मिनटों के लिए इस मुद्रा में लेट कर समाप्त करना चाहिए। यहां हम आपको बताएंगे कि सही तरीके से श्वानासन कैसे करते हैं।

Facebook Comments