तो इस आसान टिप्स से पता करें आपका पावर बैंक असली है या नकली, जब भी खरीदने जाएं पावर बैंक

हम मोबाइल पर इतने डिपेंड हो गए हैं कि हर वक्त अपने साथ चार्जर या फिर पावर बैंक लेकर ही घूमते हैं। पावरबैंक सबसे बड़ा सहारा है। आप कहीं बाहर हैं और फोन को चार्ज करने की सुविधा ना हो तो ऐसे में पावरबैंक ही सबसे बड़ा सहारा है।

आज हम आपको पावर बैंक से जुड़ी कुछ बात बताने जा रहे हैं, जो आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। बता दें कि मार्केट में जितनी असली और ब्रैंड की चीजें हैं उतनी ही फेक और डुपलीकेट ब्रैंड्स के भी भरमार हैं। असली व नकली की पहचान करना मुश्किल होता जा रहा है। ऐसे में आप जब भी पावर बैंक खरीदने जाएं तो आपको इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

वजन का ध्यान दें

सबसे पहली बात नकली पावर बैंक का वजन हल्का होता है। 5000 एमएएच क्षमता वाले नकली पावर बैंक भी हाथ में लेने पर हल्का ही लगता है। इसलिए पावर बैंक खरीदते समय उसके वजन जरूर देखें। अगर 5000 एमएएच की बैटरी होगी तो जाहिर है इसका कुछ तो वजन होगा।

ब्रैंड का नाम

पावर बैंक की पहचान करने का सबसे आसान तरीका ये है कि जिसमें पावर बैंक के ब्रैंड का नाम नहीं लिखा उसे भूलकर भी ना खरीदें। अगर आपके पावर बैंक पर ब्रैंड का नाम नहीं लिखा है तो ये साफ है कि ये नकली है। आप जो पावर बैंक खरीद रहे हैं उस पर किसी कंपनी के नाम की जगह पावर बैंक लिखा है तो समझ लीजिए आप नकली पावर बैंक खरीद रहे हैं।

सस्ते पावर बैंक ना खरीदें

नकली पावर बैंक सस्ते होते हैं। ऑरिजनल पावर बैंक हल्का नहीं भारी होता है। ऑरिजनल पावर बैंक में ज्यादा फीचर्स भी नहीं होते हैं। इसमें कभी भी म्यूजिक प्लेयर, डिस्प्ले स्क्रीन, एलईडी लाइट आदि फीचर्स नहीं होते हैं।

माइक्रो यूएसबी चार्जिंग किट

आपका पावर बैंक कितना बढ़िया है और कितने अच्छे से आपके फोन को चार्ज करता है, इसका पता लगाने के लिए आप एक माइक्रो यूएसबी चार्जिंग किट खरीद सकते हैं जो आपके मोबाइल या पावर बैंक के बीच कनेक्ट हो जाता है। इससे आप इस बात पर नजर रख सकते हैं कि आपका फोन जल्दी चार्ज होगा या नहीं।

Facebook Comments