Dharm : गलती से भी न करें इन 2 तरह की महिलाओं का अपमान, नहीं तो जीवनभर के लिए बन जाएंगे कंगाल

तमाम कोशिशों के बाद भी कई बार आदमी अपने जीवन में सफलता हासिल नहीं कर पाता। ऐसे व्यक्ति कहीं न कहीं अपने जीवन में की गई अनजानी गलतियों की वजह से जिंदगी भर पछताता है।

हिन्दू धर्म ग्रंथों में दो तरह की स्त्रियों को वरदान प्राप्त है जिसके अनुसार अगर कोई भी व्यक्ति इन पर बुरी नजर रखता है तो उसको जीवन में असफलता ही मिलती है। वह व्यक्ति हमेशा परेशानियों से घिरा रहता है।

पराई स्त्री: पराई स्त्री के बारे में हमारे पुराणों में कथा मिलती है। इस कथा के अनुसार कभी भी पराई स्त्रियों पर बुरी नजर नहीं रखना चाहिए। कथा के अनुसार राक्षस कम्भा को शिव जी से वरदान मिला था जिसके चलते इंद्र को हराकर उनका सिंहासन छीन लिया था। परेशान होकर इंद्र दत्तात्रेय के पास पहुंचे तब उन्होंने राक्षस कम्भा को अपने पास बुलाया। जब राक्षस कम्भा वहां पहुंचा तो देवी लक्ष्मी वहां पर विराजमान थीं।
कम्भा ने देवी लक्ष्मी पर मोहित होकर उनको कैद में कर लिया। इसके बाद विष्णु ने इंद्र को आदेश दिया कि राक्षस को मारकर देवी लक्ष्मी कोस वापस लाएं। तब राक्षस कम्भा ने शिवजी के वरदान की बात कही। इस बार भगवान विष्णु ने कहा कि जो भी पराई स्त्री का अपमान करता है उसका सारा पुण्य काम नष्ट हो जाता है। पराई स्त्री पर बुरी नजर रखने वाला पाप का भागी होता है।

विधवा स्त्री : जैसे पराई स्त्री पर बुरी नजर डालने वाला व्यक्ति पाप का भागी होता है उसी प्रकार विधवा स्त्री पर गंदी नजर रखने वाला व्यक्ति पाप का भागी बनता है। ऐसे व्यक्ति को हर जगह नाकामयाबियों का सामना करना पड़ता है इसलिए भूलकर भी किसी विधवा स्त्री पर बुरी नजर नहीं डालनी चाहिए।

 

Facebook Comments