बारिश के मौसम ये जड़ी बूटी रखेगी अपको फिट और तंदरुस्त

बारिश का मौसम शुरू होते ही जुकाम, बुखार और पेट की बीमारी होने की आशंका बढ़ जाती है। मौसम के बदलने से इम्युनिटी पर असर होता है, जिससे फ्लू, सर्दी, बुखार, एलर्जी और इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप चाहते हैं कि मानसून का मजा बरकरार रहे और सेहत भी दुरुस्त रहे, तो कुछ जड़ी-बूटियों से दोस्ती करना अच्छा रहेगा।

त्रिफला
यह तीन जड़ी बूटियों आंवला, बहेड़ा और हरड़ का मिश्रण है और पाचन मजबूत बनाता है। इसके अलावा आंवला में विटामिन सी काफी मात्रा में होता है। यह सर्दी जुकाम का असर कम करता है और इम्युनिटी बढ़ाता है। बहेड़ा खांसी के इलाज में सहायक है और जकड़न दूर करता है। यह लूज मोशन को में भी आराम पहुंचाता है। हरड़ के पाउडर से गरारा करने से गले को आराम मिलता है। ये पाचन को भी बेहतर करता है।

तुलसी
तुलसी के पत्ते बलगम हटाने और खांसी कम करने में मदद करते हैं। यह फेफड़ों में वायुमार्ग को फैलाकर सीने की बेचैनी को कम करते हैं। इससे सांस की बीमारी से भी जल्दी राहत मिलती है। इसके अलावा यह इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाते हैं। इसके लिए आपको रोजाना दो कप तुलसी की चाय पीनी चाहिए। इसके एंटी-बैक्टीरियल तत्व आपके शरीर को वायरस से बचाते हैं। तुलसी का इस्तेमाल बॉडी को नैचुरली डिटॉक्सीफाई करने के लिए भी किया जाता है।

गिलोय
इसे इम्युनिटी मजबूत करने के लिए जाना जाता है। यह इन्फेक्शन से लड़ने के लिए व्हाइट ब्लड सेल्स की प्रभावशीलता को बढ़ाने में सहायक है। इससे बीमारियों से जल्दी निजात पाने में मदद मिलेगी।

अश्वगंधा
यह शरीर में ऊर्जा और सहनशक्ति को बढ़ावा देता है। यह तंत्रिका तंत्र को शांत करता है और नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है। इतना ही नहीं यह कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को कम करता है। इसे एंटी-मलेरीअल गुणों की वजह से भी जाना जाता है।

Facebook Comments