अगर आपके गले में जमीं है मैल तो इस तरह करें साफ….

पेस्‍ट बनने के बाद इसे गर्दन पर लगाकर, 10 मिनट के लिए छोड़ दें । मसाज की कोई जरूरत नहीं है। यह पैक प्राकृतिक ब्‍लीच की तरह काम करता है और गर्दन की त्‍वचा को निखाने में सहायक है।

गर्दन की त्‍वचा बहुत ही कोमल और संवदेनशील होती है! हम अक्सर अपने शरीर की सफाई करते वक्‍त गर्दन की सफाई पर विशेष ध्यान नहीं दे पाते हैं और धूल मिटटी की परत हमारी गर्दन पर जमने लगती है, जिस कारण हमारी गर्दन का रंग काला पड़ने लगता है और समय के साथ-साथ हमारे चेहरे की अपेक्षा गर्दन का रंग काला और रफ दिखाई देने लगता है।

इसके अलावा सूरज की रोशनी में अधिक देर तक रहने की वजह से भी हमारी गर्दन का रंग काला पड़ने लगता है । तेज गर्मी के दिनों में हमारी त्वचा सूरज के संपर्क में आती है और झुलसने लगती है। इससे वह काली पड़ने लगती है ।

गर्दन साफ़ करने के लिए अपनाये यह तरीके : 

1. स्टीमिंग : 
आप यहाँ एक छोटा तौलिया ले कर उसे गर्म पानी में डीप करें । फिर तौलिये से अतिरिक्‍त पानी को निचोड़कर, तौलिये को अपनी गर्दन पर लपेटें । 5 मिनट तक तौलिये को ऐसे की गर्दन पर लगा रहने दें। यह त्‍वचा को नमी देने के साथ बंद पोर्स खोलता है। स्‍टीम से गर्दन पर जमी गंदगी और मृत त्‍वचा बाहर आ जाती है ।

2. एक्सफोलीएटिंग :
अब आप एक चम्‍मच नमक, एक चम्‍मच बेकिंग सोडा और तीन चम्‍मच नारियल तेल लें। फिर इन तीनों को एक बाउल में लेकर मिक्‍स कर लें। ध्‍यान रहें, नमक और बेकिंग सोडा तेल में घुलता नहीं है। अब इस मिक्‍स को लेकर अपनी गर्दन पर लगा लें और 5 मिनट के लिए अपनी उंगलियों से गर्दन के आस-पास धीरे से मसाज और एक्‍सफोलिएट करें। यह आपकी गर्दन की त्‍वचा से गंदगी और मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है ।

3. वाइटनिंग :
इस पेस्‍ट को बनाने के लिए एक चम्‍मच चंदन पाउडर, एक चम्‍मच मुलतानी मिट्टी, एक नींबू का रस और आधा कप कच्‍चे दूध की जरूरत होती है । एक छोटा बाउल लेकर इन सब चीजों को मिक्‍स कर लें। नींबू का रस, दूध में मिलाने से दूध जम जाता है और पेस्‍ट गाढ़ा बन जाता है । इन सब चीजों को मिलाने से पेस्‍ट हल्‍का पीला बन जाता है । पेस्‍ट बनने के बाद इसे गर्दन पर लगाकर, 10 मिनट के लिए छोड़ दें । मसाज की कोई जरूरत नहीं है। यह पैक प्राकृतिक ब्‍लीच की तरह काम करता है और गर्दन की त्‍वचा को निखाने में सहायक है।

Facebook Comments