वैज्ञानिकों के हाथ लगी एक ऐसी चीज, जिसकी कीमत कई देश बेचकर भी नहीं लगाई जा सकती

अमेरिका के वैज्ञानिकों को हाल में एक बड़ी उपलब्धि हाथ लग गई है। जी हां, इस बार कोई इनोवेशन नहीं किया बल्कि एक ऐसी चीज ढूंढ निकाली है जिसे देखकर सब हैरान रह गए हैं। अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के वैज्ञानिकों ने दुनिया बताया कि धरती की सतह से नीचे 100 मील की दूरी पर क्वाड्रिलियन टन हीरा दबा है।

अब आप ये सोच रहे होंगे कि क्वाड्रिलियन कितना होता है? एक क्वाड्रिलियन में 15 जीरो होते हैं। बताया जा रहा है कि यह हीरा 50,000,000 कैरेट्स का है। इसमें हर हीरे की कीमत कम से कम 3 हजार पाउंड होगी। भारतीय रुपयों में इनकी कीमत 2,71,501 अरब रुपए होगी।

एमआईटी के पृथ्वी विभाग, वायुमंडलीय और प्लैनेटरी साइंस के रिसर्च साइंटिस्ट उलिच फाउल ने कहा कि इस रिसर्च से पता चलता है कि हीरा शायद अनोखा खनिज नहीं है, बल्कि (भौगोलिक) पैमाने पर यह अपेक्षाकृत आम चीज है। हालांकि हम इसे हासिल नहीं कर सकते। लेकिन जितना हमने सोचा उससे कहीं ज्यादा हीरा यहां मौजूद है।

आपको बता दें कि इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया की क्रेटोनिक जड़ों में एक से दो प्रतिशत हीरा हो सकता है। पृथ्वी में क्रेटोनिक जड़ों की कुल मात्रा को ध्यान में रखते हुए, रिसर्च टीम का आंकड़ा है कि धरती की सतह के नीचे 90 से 150 मील की दूरी पर स्थित चट्टानों में एक चौथाई (1016) टन हीरा बिखरा हो सकता है।

Facebook Comments