मौसम विभाग के अनुसार भारत के कुछ राज्य में आंधी -तूफान का खतरा…..

 

 मौसम विभाग ने जो आशंका जाहिर की है उसके अनुसार रोहतक, पानीपत, अलवर, बागपत, मेरठ और अलीगढ़ के इलाकों में आंधी-तूफान आने की संभावना है. इस दौरान हवा की रफ्तार 50 से 60 किमी प्रति घंटा रह सकती है. हवा की रफ्तार रविवार की तुलना में कम ही रहेगी.

जबकि उधर दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार देर रात अचानक मौसम बदला और रात करीब 3 बजे आंधी तूफान आना शुरू हो गया. इसके लिए विभाग ने पहले ही चेतावनी जारी की थी .पेड़ों के गिरने के साथ ही कई इलाकों में बिजली गुल हो गई.

भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि आंधी-तूफान का खतरा अभी टला नहीं है. विभाग ने अगले दो घंटों में तेज आंधी और हल्की बारिश की चेतावनी दी है.दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार देर रात तेज धूल भरी आंधी के साथ-साथ हल्की बारिश भी हुई.

उल्लेखनीय है कि रविवार शाम उत्तर से दक्षिण भारत तक पांच राज्यों में आए आंधी-तूफान व बिजली गिरने के मामलों में मृतक संख्या 80 हो गई है. गृह मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों में उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 51 मौतें हुई. जबकि बंगाल में 14, आंध्र में 12, दिल्ली में दो व उत्तराखंड में भी एक व्यक्ति मारा गया. बता दें कि इस आंधी तूफ़ान से उत्तर प्रदेश के 24, पश्चिम बंगाल के 6, आंध्र प्रदेश के 3, दिल्ली के 2 व उत्तराखंड का एक जिला प्रभावित हुआ था.

आपको बता दें कि मौसम विभाग ने जो आशंका जाहिर की है उसके अनुसार रोहतक, पानीपत, अलवर, बागपत, मेरठ और अलीगढ़ के इलाकों में आंधी-तूफान आने की संभावना है. इस दौरान हवा की रफ्तार 50 से 60 किमी प्रति घंटा रह सकती है. हवा की रफ्तार रविवार की तुलना में कम ही रहेगी. जबकि उधर दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार देर रात अचानक मौसम बदला और रात करीब 3 बजे आंधी तूफान आना शुरू हो गया. इसके लिए विभाग ने पहले ही चेतावनी जारी की थी .पेड़ों के गिरने के साथ ही कई इलाकों में बिजली गुल हो गई.

उल्लेखनीय है कि रविवार शाम उत्तर से दक्षिण भारत तक पांच राज्यों में आए आंधी-तूफान व बिजली गिरने के मामलों में मृतक संख्या 80 हो गई है. गृह मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों में उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 51 मौतें हुई. जबकि बंगाल में 14, आंध्र में 12, दिल्ली में दो व उत्तराखंड में भी एक व्यक्ति मारा गया. बता दें कि इस आंधी तूफ़ान से उत्तर प्रदेश के 24, पश्चिम बंगाल के 6, आंध्र प्रदेश के 3, दिल्ली के 2 व उत्तराखंड का एक जिला प्रभावित हुआ था.

Facebook Comments