घूमने के शौकीन हैं तो एक बार जरूर जाए कसौली….

हिमाचल प्रदेश का प्रमुख शहर है कसौली। कसौली समुद्र तल से लगभग 1800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। हिमाचल के सोलन जिले का यह एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार जब हनुमान लक्ष्मण की प्राण रक्षा के लिए संजीवनी बूटी लेकर जा रहे थे तो उन्होंने इस स्थल पर कदम रखे थे। इसलिए कसौली का वर्णन महाकाव्य रामायण में भी मिलता है।

यहां पर जबली और कसौली के बीच एक धारा बहती है इस धारा को कौशल्या के नाम से जाना जाता है। इस धारा के नाम पर ही इस स्थान का नाम कसौली पड़ा। 19वीं सदी में कसौली गोरखा राज्य का ही एक महत्वपूर्ण भाग बन गया। बाद में ब्रिटिश शासन काल में इस जगह को बटालियन शहर में तब्दील कर दिया गया। प्रकृति के बीच स्थित यह शहर इसके आकर्षणों जैसे क्राईस्ट चर्च, मंकी पॉइंट, कसौली भट्टी, बाबा बालक नाथ मंदिर और गोरखा फोर्ट (किला) के लिये भी जाना जाता है।

यूं तो यहां लोग साल भर आते रहते हैं, लेकिन अप्रैल से जून और सितम्बर से नवम्बर के बीच यहां अधिक पर्यटक आते हैं। इस बीच कसौली के मौसम के अनेक रंग देखने को मिल जाएंगे। यहां अंग्रेजों द्वारा 1880 में स्थापित कसौली क्लब भी अपने आप में एक देखने की जगह है। देश के नामचीन क्लबों में शामिल इस क्लब की सदस्यता के लिए 20 सालों  की वेटिंग चलती है।

कैसे पहुंचें

एयरपोर्ट-   कसौली का नजदीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ में है, जो कसौली से 65 किलोमीटर है। दिल्ली से चंडीगढ़ के लिए दिन भर में अनेक उड़ानें हैं। इंडियन एयरलाइन्स, किंगफिशर, जेट एयर, जेट लाइट की उड़ानें प्रतिदिन हैं।

रेल मार्ग – दिल्ली से कालका के लिए दिनभर में पांच गाड़ियां हैं। हिमालयन क्वीन, कालका शताब्दी, पश्चिम एक्सप्रेस और हावड़ा-दिल्ली-कालका मेल से आप कालका तक पहुंच सकते हैं। उसके आगे कालका से शिमला लाइन पर आप धर्मपुर स्टेशन तक ट्रेन से जा सकते हैं। चाहे कालका शिमला पैसेंजर लें या कालका शिमला एक्सप्रेस या अन्य गाड़ियां, पहाड़ियों की खूबसूरती का नजारा करते हुए आप लगभग डेढ़ घंटे में (लगभग 33 किलोमीटर) धर्मपुर पहुंच जाएंगे। वहां से हिमाचल रोडवेज की बस या टैक्सी लेकर कसौली तक की 12 किलोमीटर की दूरी तय कर सकते हैं।

सड़क मार्ग- दिल्ली से कसौली की दूरी 264 किलोमीटर है। चंडीगढ़ और कालका से यह क्रमश: 67 व 35 किलोमीटर है। दिल्ली से कश्मीरी गेट बस अड्डे से हिमाचल रोडवेज की बस लेकर धर्मपुर तक पहुंच सकते हैं। वहां से लोकल बस और टैक्सियां मिल जाएंगी। चंडीगढ़ से भी नियमित बसें हैं।

कहाँ ठहरें
कसौली की लोकप्रियता को देखते हुए यहाँ ठहरने की बेहतर व्यवस्था का अंदाजा लगाया जा सकता है। यानी यहाँ दर्जनों अच्छे होटल, रिजॉर्ट्स, गेस्ट हाउस आदि हैं। हिमाचल टूरिज्म का भी एक हेरिटेज होटल है, जिसका नाम है- ‘द रोज कॉमन’, लेकिन ठहरने की व्यवस्था समय रहते कर लेनी चाहिए। पर्यटक हिमाचल पर्यटन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर वहाँ स्थित होमस्टे में भी अपनी बुकिंग करा सकते हैं, जो होटलों की तुलना में थोड़े सस्ते हैं।

Facebook Comments