इन उपायों को अपना कर हमेशा के लिए दूर बुरी शक्तियों को अपने पास से

नकारात्मक शक्ति या बुरी शक्ति जिस घर में होती है, वह घर कभी भी खुशहाल नहीं होता, वहां पर परेशानी निरंतर बनी ही रहती है. वैसे तो हर इंसान इन शक्तियों से हमेशा बच कर ही रहना चाहता है. लेकिन यह वह शक्ति हैं, जो बिन बुलाये ही घर में प्रवेश कर जाती है. शास्त्रों में बताया गया है कि भूत, प्रेत की कई जातियां होती है, जैसे भूत, प्रेत, राक्षस, पिशाच, यम, शाकिनी, डाकिनी, चुड़ैल, गन्धर्व आदि. इनके स्वभाव में दुःख व अशांति होती है, जो खुद को इस योनी से मुक्त करने वाले को ढूंढते रहते है. कई बार एकांत में हमारे साथ ऐसा होता है कि हमें कुछ आजीब से एहसास होते है और अजीब सी आवाज आती है और जब हम पीछे पलटकर देखते है, तो वहां कुछ नहीं होता. यदि आपके साथ भी ऐसा होता है, तो आपको यह बातें जानना जरूरी है.

यदि किसी भूत प्रेत ने आपके किसी अपने को प्रभावित किया है, तो शनिवार के दिन सवा किलो दलिया, गुड़ के साथ बना लें और इसे एक मिट्टी की हांडी में डालकर सूर्यास्त के बाद उस व्यक्ति के शरीर से जिसे भूत, प्रेत ने प्रभावित किया है, बाएं से दाएं घुमाते हुए उतारें और अब इस हांडी को बिना किसी को बताए किसी चौराहे पर ले जाकर रख दें. वहां से वापस आते वक्त पीछे पलटकर न देखें और न ही किसी से बात करें.

जिसे भूत, प्रेत से भय लगता है या उसे ऐसा लगता है कि कोई साया उसका पीछा कर रहा है, तो उसके गले में “ॐ” या “रुद्राक्ष” को अभिमंत्रित करवाकर पहना दें तथा उसके माथे पर चन्दन, केसर और भभूत का तिलक लगाएं व हांथ में रक्षासूत्र बाँध दें. और जो व्यक्ति प्रत्येक मंगलवार और शनिवार हनुमान चालीसा व गजेन्द्र मोक्ष का पाठ करता है, तो उसे किसी भी प्रकार का भय नहीं लगता.

Facebook Comments