कभी नहीं होगी पैसों की तंगी…शाम के समय आप भी जलाते हैं तुलसी के नीचे दिया तो जान लें ये बात

तुलसी (Tulsi) का पौधा ने केवल औषधि है बल्कि इसमें धन की देवी लक्ष्मी का वास माना जाता है। प्रायः हिन्दू घरों में लगे तुलसी के पौधे के नीचे दीपक जलाया जाता है।

रोज शाम को तुसली (Tulsi) के नीचे दीपक जलाने से घर की दरिद्रता दूर होती है और लक्ष्मी घर में निवास करती हैं। शास्त्रों में तुलसी के नीचे दीपक जलाने के लिए कुछ विधियां बताई गई है।

तुलसी पौधे के नीचे दीपक जलाने के नियम

दरअसल माना जाता है कि यदि दीपक को आसन देकर तुलसी के नीचे नहीं रखा जाए तो माता लक्ष्मी आसन ग्रहण नहीं करती। साथ ही चावल को लक्ष्मीजी का प्रिय धान भी माना जाता है।

इसलिए कहा जाता है कि पूजन के समय दीपक को चावल का आसन देने से घर में स्थिर लक्ष्मी का निवास होता है। शास्त्रों में ऐसा उल्लेख भी मिलता है तुलसी के पौधे के नीचे चावल का आसन बिछाकर उसपर घी अथवा तेल का दीपक जलाने से धन लाभ होता है।

ऐसे नहीं होता दरिद्रता का वास

साथ ही घर में दरिद्रता का कभी वास नहीं होता है। तुसली माता की पूजा में दीपक के नीचे चावल रखने चाहिए। शास्त्रों में चावल को शुद्धता का प्रतीक माना गया है और दीपक को पूर्णता का।

हिन्दू धर्म में दीपक को देवरूप माना जाता है। इसीलिए तुलसी के पौधे के नीचे दीपक जलाने के लिए पहले चावलनुमा आसन का प्प्रयोग करना चाहिए। दीपक के नीचे चावल ना रखें जाने पर इसे अपशकुन माना जाता है। यदि दीपक के नीचे चावल नहीं हो तो दीपक अपूर्ण होता है।

Facebook Comments