आज निकल सकते हैं बाहर,केंद्रीय मंत्री अश्वनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत को नहीं मिल रहा बेलर…..

प्रभारी जिला जज सह चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश कुमुद रंजन सिंह की कोर्ट से सोमवार को बेल ले चुके अर्जित शाश्वत समेत आठ आरोपित मंगलवार को कैंप जेल से बाहर नहीं आ सके। कोर्ट निर्देश के 30 घंटे बाद भी आरोपितों में प्रत्येक के दो-दो बेलर का जुगाड़ नहीं हो सका। बेलर (जमानती) पूरे कागजात के साथ कोर्ट में नहीं आये, इस कारण प्रक्रिया शुरू नहीं हो पायी।

 

यह कहते हैं मामले की पैरवी कर रहे अधिवक्ता : अर्जित शाश्वत मामले की पैरवी कर रहे अधिवक्ता वीरेश मिश्रा ने बताया कि मॉर्निंग कोर्ट में सुबह 10।30 बजे  तक बेल बांड को जमा करना पड़ता है, तब जाकर संबंधित जेल को रिहाई का कागज भेजा जा सकेगा। डे कोर्ट की बात को समझ अधिकतर बेलर सुबह 10 बजे तक आये, तब देरी हो चुकी थी। बुधवार को सभी कागजी कार्रवाई पूरी करते हुए उन्हें जेल से बाहर निकालने का प्रयास करेंगे।

दिन भर चलती रही जेल से बाहर निकलने की चर्चा : कोर्ट से बेल ले चुके अर्जित शाश्वत चौबे समेत अन्य आरोपित की दिन भर जेल से बाहर निकलने की चर्चा चलती रही। इस कारण पुलिस से लेकर उनके समर्थक भी अलर्ट की भूमिका में बने हुए थे। सुबह 10 बजे तक माहौल था कि अब कोर्ट से कागज कैंप जेल जायेगा और वहां से आरोपित बाहर निकलेंगे। जब दोपहर 12 बजे कोर्ट से कोई कागज जारी नहीं हुआ, तब जाकर चर्चा पर विराम लगा।

यह थे कोर्ट के निर्देश : कोर्ट ने भाजपा नेता अर्जित शाश्वत, भाजपा नगर अध्यक्ष अभय कुमार घोष उर्फ सोनू, प्रमोद वर्मा उर्फ पम्मी वर्मा, निरंजन सिंह, दिवाकर कुमार पांडे उर्फ देव कुमार पांडे, सुरेंद्र कुमार पाठक,  प्रणव साह उर्फ प्रणव दास व संजय भट्ट को सशर्त जमानत दिया है। नाथनगर थाना क्षेत्र में 17 मार्च को हुए हंगामे को लेकर भाजपा नेता आरोपित हैं।

प्रभारी जिला जज सह चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश की कोर्ट में नाथनगर थाना कांड संख्या-177/18 में आरोपित पिंकू यादव, शंकर यादव एवं आकाश साह की नियमित जमानत की अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई हुई। इसमें आरोपितों की ओर से अधिवक्ता आनंद श्रीवास्तव ने पैरवी की। कोर्ट ने सरकार की ओर से पैरवी कर रहे कोर्ट ने मांगी लोक अभियोजक सत्यनारायण प्रसाद साह से केस डायरी मंगवाने का निर्देश दिया। नियमित जमानत पर 16 अप्रैल को सुनवाई होगी।

Facebook Comments