हांगकांग के खिलाफ पाकिस्तान से भिड़ंत की तैयारी करने उतरेगा भारत

भारत की मजबूत टीम आज कमजोर माने जाने वाले हांगकांग के खिलाफ उतरेगी तो उसकी नजरें बुधवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले बहुप्रतीक्षित मुकाबले की तैयारी पर टिकी होंगी। भारत-पाक की प्रतिद्वंद्विता से पहले हांगकांग मैच भारतीय प्रशंसकों के लिए ट्रेलर की तरह होगा। नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी के बावजूद रोहित शर्मा की अगुआई वाली टीम एकदिवसीय प्रारूप में काफी मजबूत है। रोहित और उनकी टीम हांगकांग को हलके में नहीं लेना चाहेगी, क्योंकि उसे इसके अगले ही दिन फॉर्म में चल रही पाकिस्तान की टीम से भिड़ना है। दुबई में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस के आसपास चल रहा है और ऐसे में भारत बड़े मुकाबले से पहले अपना सही संयोजन तैयार करना चाहेगा।

PunjabKesari

धोनी को बल्लेबाजी में करना होगा अच्छा प्रदर्शन
हांगकांग को अपने पहले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ आठ विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इस इकतरफा मैच में टीम 116 रन ही बना सकी थी। अगर कोई करिश्मा नहीं होता है तो रोहित, शिखर धवन, लोकेश राहुल, केदार जाधव जैसे बल्लेबाजों और जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जैसे गेंदबाजों वाली भारतीय टीम के खिलाफ हांगकांग के प्रदर्शन में काफी बड़े सुधार की उम्मीद नहीं की जा रही है। पिछले कुछ वर्षों से महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी पर लगातार सवाल उठते रहे हैं और यह टूर्नामेंट तय करेगा कि वह लय में हैं या नहीं। भारत के लिए पांचवें, छठे और सातवें नंबर पर कौन बल्लेबाजी करेगा, यह तय नहीं हो पा रहा है। धोनी अगर सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हैं तो उन्हें डेथ ओवरों में मोहम्मद आमिर के अलावा उस्मान खान और हसन अली जैसे गेंदबाजों का सामना करना पड़ेगा। पांचवें नंबर पर केदार जाधव या मनीष पांडे में से एक को मौका मिल सकता है। अगर पूर्व कप्तान धोनी छठे नंबर पर बल्लेबाजी का फैसला करते हैं तो सातवें नंबर पर हार्दिक पंड्या की बड़े शॉट खेलने की क्षमता भारत के लिए अहम हो सकती है।

भारत का मध्यक्रम चिंता का विषय
मध्यक्रम पिछले कुछ समय से भारत के लिए चिंता का विषय रहा है और अगले साल होने वाले विश्व कप से पूर्व भारत को इस समस्या का हल निकालना होगा। लोकेश राहुल के तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने की उम्मीद है, लेकिन आमिर या हसन की अंदर आती गेंदें उनके लिए समस्या पैदा कर सकती हैं, जैसा कि इंग्लैंड में हुआ था। बीसीसीआई पहले ही श्रीलंका के बाएं हाथ के थ्रोडाउन विशेषज्ञ को नियुक्त कर चुका है, ताकि भारत को पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों का सामना करने में दिक्कत नहीं हो। टीम में खलील अहमद भी मौजूद हैं, जो बल्लेबाजों को जरूरी अभ्यास करा सकते हैं। धवन, राहुल और पंड्या जैसे बल्लेबाजों को विकेट की अलग तेजी और लेंथ से सामंजस्य बैठाना होगा।

बुमराह हासिल करेंगे अपनी लय
बुमराह, भुवनेश्वर, कुलदीप और चहल का संयोजन एक बार फिर मैदान पर नजर आएगा जो पिछले एक साल से भारत को अच्छे नतीजे दे रहा है। हांगकांग के खिलाफ मुकाबला भुवनेश्वर के लिए लय हासिल करने का मौका होगा, क्योंकि वह पीठ की चोट के कारण लंबे समय तक बाहर रहे हैं। उन्होंने हाल में दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ भारत ए की ओर से वापसी की। भारत और पाकिस्तान के खिलाफ मैच के लिए टिकटों की कीमतें 1600 डालर (लगभग एक लाख 15 हजार रुपए) तक हैं। बुधवार को स्टेडियम के खचाखच भरा होने की उम्मीद है, जबकि हांगकांग मैच के दौरान भी बड़ी संख्या में भारतीय दर्शक मैदान में पहुंच सकते हैं।

 

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, अंबाती रायुडू, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, शार्दुल ठाकुर, दिनेश कार्तिक और खलील अहमद।

हांगकांग: अंशुमान रथ (कप्तान), एजाज खान, बाबर हयात, कैमरन मैकुलसन, क्रिस्टोफर कार्टर, अहसन खान, अहसन नवाज, अर्शद मोहम्मद, किंचित शाह, नदीम अहमद, राग कपूर, स्काट मैकेहनी, तनवीर अहमद, तनवी अफजल, वकास खान और आफताब हुसैन।

Facebook Comments