आखिर कैसे जीता यह युवा कांग्रेसी विश्वजीत पतंगराव …..

आज देश भर के करीब 10 विधानसभा उपचुनाव और 4 लोकसभा उपचुनाव के नतीजे सामने आए, जिसमें केरल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड आदि राज्य शामिल है. सभी के रुझान आने के बाद इन सीटों में महाराष्ट्र की  पलूस-कडेगाव विधानसभा सीट चर्चा का विषय रही थी, इसका चर्चा में रहने का कारण था यहाँ पर कांग्रेस के उम्मीदवार विश्वजीत पतंगराव कदम का निर्विरोध जीतना.

इस सीट पर पूर्व में विधायक रह चुके वरिष्ठ कांग्रेस नेता पतंगराव कदम के देहांत के बाद यहाँ पर कांग्रेस की सीट से उन्हीं के बेटे विश्वजीत पतंगराव कदम ने नामांकन भरा,लेकिन हुआ यूँ कि, यहाँ पर पतंगराव कदम की एक साफ़ छवि और लोगों की मदद करने वाले नेताओं में जाने जाते है, यही कारण था कि उनको श्रद्धांजलि देने के लिए यहाँ पर शिवसेना और एनसीपी ने अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था.

बीजेपी ने यहाँ पर संग्राम सिंह देशमुख को अपने उम्मीदवार के तौर पर उतारा था लेकिन बाद में राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने अपनी पार्टी के नेताओं से चर्चा कर संग्राम सिंह का नामांकन वापस ले लिया. हालाँकि कयास यह भी लगाए जा रहे है कि शिवसेना के दबाव में बीजेपी इस चुनाव से पीछे हट गई, और अंत में विश्वजीत पतंगराव कदम को यहाँ पर जीत दर्ज हुई है

Facebook Comments