व्यापम घोटाला मामले में सीबीआई ने गुरुवार को चार्जशीट पेश की, सीबीआई ने 592 लोगों को आरोपी बनाया

इस मामले में जांच एजेंसी ने 28 महीने लंबी चली पड़ताल के बाद 592 लोगों को आरोपी बनाया है। आरोपियों में व्यापम के 4 पूर्व अधिकारी पंकज त्रिवेदी, नितिन मोहिंद्र, अजय कुमार सेन और सीके मिश्रा शामिल है।

 

CBI ने आरोपियों की जो लिस्ट बनाई है, उसमें पीपुल्स ग्रुप के चेयरमैन सुरेश एन. विजयवर्गीय, उनके दामाद और डायरेक्टर एडमिनिस्ट्रेशन अंबरीश शर्मा, पीपुल्स के मेडिकल डायरेक्टर अशोक नागनाथ, पीपुल्स यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर विजय कुमार पांडे और चिरायु मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर डॉ. अजय गोयनका समेत दो अन्य मेडिकल कॉलेज के कर्ता-धर्ता भी शामिल हैं।

 

आपको बता दें व्यापम घोटाला मध्यप्रदेश से जुड़ा प्रवेश एवं भर्ती घोटाला है। जिस के पीछे कई नेताओं, वरिष्ठ अधिकारियों और व्यवसायियों का हाथ माना जाता है। मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल अथवा व्यापम (व्यावसायिक परीक्षा मण्डल) राज्य में कई प्रवेश परीक्षाओं के संचालन के लिए जिम्मेदार राज्य सरकार द्वारा गठित एक स्व-वित्तपोषित और स्वायत्त निकाय है। ये प्रवेश परीक्षाएँ, राज्य के शैक्षिक संस्थानों में तथा सरकारी नौकरियों में दाखिले और भर्ती के लिए आयोजित की जाती हैं।

 

इन प्रवेश परीक्षाओं में तथा नौकरियों में अपात्र परीक्षार्थियों और उम्मीदवारों को बिचौलियों, उच्च पदस्थ अधिकारियों एवं राजनेताओं की मिलीभगत से रिश्वत के लेनदेन और भ्रष्टाचार के माध्यम से प्रवेश देने और बड़े पैमाने पर अयोग्य लोगों की भर्तियाँ करने का आरोप है।

 

Facebook Comments