अदरक का दूध पीने से होते हैं ये चौकाने वाले फायदे

दूध का स्वाद बढ़ाने और स्वास्थ्यवर्धक गुणों को बढ़ाने के लिए अदरक काफी फायदेमंद होती है। अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्र्री, एंटी-बैक्टीरियल गुण होने के साथ-साथ अनेक मेडिकल प्रोपर्टीज पाई जाती है। इसलिए अदरक के दूध का सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। सर्दी-जुकाम से बचाने के साथ अदरक का दूध, हल्दी के दूध की तरह बदन दर्द को दूर करने के लिए उपयोगी होता है। दूध पोषक तत्वों से भरपूर होता है और इसमें अदरक मिलाने से इसके स्वास्थ्यवर्धक लाभ और भी बढ़ जाते हैं। आइए जानते हैं कि अदरक का दूध पीना स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद होता है।

Ginger Milk: अदरक का दूध पीने के फायदे

  • इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है
  •  पाचन शक्ति बढ़ाती है
  • ऑस्टियोपोरोसिस से रक्षा करता है
  • गले की खराश कम करता है

1. अदरक का दूध बनाने की विधि- अदरक का दूध बनाने के लिए दूध को गर्म करके उसमें अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े डालकर उबालें और फिर छान लें। आप चाहें तो अदरक को पीसकर भी डाल सकते हैं। रात को सोने से पहले इस दूध का सेवन फायदेमंद होता है।

2.इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है-

अदरक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और शरीर को बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाती है। इसलिए अदरक का दूध पीने से इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है और शरीर की बीमारियों से रक्षा होती है।

 3. पाचन शक्ति बढ़ाती है- अदरक का दूध पाचन तंत्र के लिए लाभकारी होता है। यह कब्ज, पेट दर्द, एसिडिटी, एसिड रिफ्लक्स से पाचन तंत्र की रक्षा करती है। नाश्ता करने के बाद अदरक का दूध पीना पाचन तंत्र के लिए काफी फायदेमंद होता है।

4.ऑस्टियोपोरोसिस से रक्षा करता है-

अदरक का दूध हड्डियों की ताकत को बढ़ाता है। इसमें कैल्शियम के साथ-साथ पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसे पीने से हड्डियों की कमजोरी दूर होती है साथ ही सूजन और दर्द भी कम हो जाते हैं। अदरक का दूध पीने से ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव होता है।

5.गले की खराश कम करता है- गले की खराश को कम करने के लिए अदरक का दूध फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण कफ, फ्लू और गले के संक्रमण के खतरे को कम करते हैं जिससे गले की खराश ठीक होती है और आप आसानी से चीजें निगल पाते हैं।

इस प्रकार अदरक का दूध पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।इस आर्टिकल को इंग्लिश में पढ़ने के लिए क्लिक करें।

Facebook Comments