पाकिस्तानी जवानों ने सीजफायर उल्लंघन कर सीमा चौकियों पर गोलीबारी की, जिसमें शहीद हुआ झारखंड का लाल…..

जम्मू-कश्मीर के आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से गुरुवार रात सीजफायर उल्लंघन किया गया जिसमें एक जवान शहीद हो गया। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से पाकिस्तान की इस हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस हमले में दो आम नागरिक भी घायल हुए हैं। रमजान के मौके पर पाकिस्तान की ओर से जारी इस हरकत के बाद अंतराष्‍ट्रीय से सटे 3 किमी तक के रेडियस में मौजूद स्कूलों को बंद कर दिया गया है।

 

शहीद जवान का नाम सीताराम उपाध्‍याय बताया जा रहा है। शहीद जवान झारखंड के गिरिडीह पालगंज के रहने वाले थे। खबरों की मानें तो पाकिस्तान की ओर से की गयी  फायरिंग में दो जवान घायल हो गये थे जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया जहां सीताराम नामक जवान की मौत हो गयी। शहीद की पत्नी ने कहा कि भारत ने कहा है कि रमजान के महीने में सुरक्षाबल ऑपरेशन को अंजाम नहीं देंगे लेकिन पाकिस्तान की फायरिंग में मेरे पति की जान चली गयी। मुआवजे से क्या होगा ? मुआवजे से मेरे पति तो वापस नहीं आयेंगे।

 

शहीद जवान अपने पीछे तीन साल की बेटी, एक साल का बेटा और पत्नी को छोड़ गये हैं। जैसे ही उनके शहीद होने की खबर घर वालों को मिली उनका रो-रो कर बुरा हाल हो गया।

इधर, संदिग्ध आतंकवादियों ने बीती रात यहां डलगेट इलाके में एक सुरक्षा चौकी से पुलिस कर्मियों की तीन राइफल छीन ली। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि डलगेट इलाके के पर्यटन केंद्र में आतंकवादियों ने एक पुलिस चौकी को निशाना बनाया और पुलिस कर्मियों की तीन सर्विस राइफल लेकर फरार हो गये। अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने हमलावरों को पकड़ने के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी है लेकिन फिलहाल कुछ सफलता हाथ नहीं लगी है।

 

गौर हो कि पाकिस्तान की ओर से रमजान के पहले दिन ही जम्मू-कश्मीर के सांबा और कठुआ जिलों में बुधवार को रातभर 15 सीमा चौकियों और कुछ रिहायशी इलाकों पर गोलीबारी की गयी और मोर्टार दागे गये जिसमें बीएसएफ का एक जवान घायल हो गया था। इससे पहले सांबा सेक्टर में 15 मई को पाकिस्तानी जवानों ने सीजफायर उल्लंघन कर सीमा चौकियों पर गोलीबारी की थी। पाकिस्तान का उद्देश्य सीमापार से घुसपैठ करवाने में मदद देना था। उस गोलीबारी में बीएसएफ का 28 वर्षीय एक जवान शहीद हो गया था।

Facebook Comments