FIU करीब 2166 ATM सेंटरों की करेगी जांच,किन जगाहों से निकाला गया सबसे ज्यादा पैसा?…..

मोदी सरकार अब कैश की किल्लत को दूर करने में जुट गई है। इसके लिए RBI को खास निर्देश भी दिए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, अब आरबीआई के सभी रीजनल ऑफिस हर महीने अपने क्षेत्र में बैंक और एटीएम में कैश की मांग और सप्लाई का आकलन करेंगे और इसकी रिपोर्ट भेजेंगे।

बता दें कि अब FIU करीब 2166 ATM सेंटरों की जांच करेगी। ये वैसे सेंटर्स हैं जिनमें पिछले दिनों सबसे ज्यादा कैश निकाले गए हैं। एफआईयू अब यह जांच करेगी कि किन लोगों ने इन एटीएम सेंटरों से ज्यादा निकासी की। इसके पीछे कारण क्या था और क्यों इतना कैश निकाला गया?

इस जांच में IT डिपार्टमेंट भी FIU की मदद करेगा। सरकार को शक है कि बेशक कैश की डिमांड बढ़ी हो, लेकिन साथ में कुछ इस तरह का खेल खेला गया जिससे एटीएम में कैश की किल्लत बढ़ जाए। इसलिए मोदी सरकार पूरे मामले की तह तक जाना चाहती है कि आखिर सच क्या है ?

वित्त मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पैसों की जमाखोरी के चलते एटीएम में कैश की कमी हुई है, इस बात की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। देश में अप्रैल के पहले 12-13 दिनों में ही 45,000 करोड़ रुपये निकाले जा चुके हैं। जबकि पूरे महीने में ही 20,000 करोड़ रुपये की मांग रहती है।

चूंकि विधानसभा के साथ-साथ लोकसभा चुनाव भी सिर पर है। लिहाजा सरकार किसी भी तरह का कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। ऐसे में अगर एटीएम में कैश की किल्लत का मामला लंबा खिंच गया तो ये एक राजनीतिक मुद्दा भी बन सकता है। और इसलिए RBI  को खास निर्देश दिए गए हैं।

Facebook Comments