गर्भावस्था में बुखार के कारण बच्चे में हो सकते हैं हृदय, चेहरे संबंधी विकार

गर्भावस्था के पहले तीन से आठ सप्ताह में बुखार के कारण बच्चे में हृदय और चेहरे संबंधी विकार हो सकते हैं. अनुसंधानकर्ता कई दशक से यह जानते थे कि पहली तिमाही में बुखार के कारण बच्चे में हृदय विकार और होठ तथा तालू के कटे होने के खतरे बढ़ जाते हैं.

इस बात पर चर्चा होती रही थी कि किसी वायरस या संक्रामक कारणों से यह विकार पैदा होता था या केवल बुखार के कारण यह समस्या पैदा हो सकती थी. वैज्ञानिकों को अब इस बात के सबूत मिले हैं कि पहले तीन से आठ माह के भीतर बुखार की वजह से हृदय और जबड़े का विकास प्रभावित होता है.

‘साइंस सिग्नलिंग’ जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार पहली तिमाही में एसिटामिनोफेन के उचित इस्तेमाल से मां में बुखार की आशंका को कम किया जा सकता है. इससे जन्मजात दोष को एक हद तक रोका जा सकता है. अमेरिका के ड्यूक विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर एरिक बेन्नर ने कहा, ‘‘जहां डॉक्टर गर्भावस्था में महिलाओं को किसी भी तरह की दवा से बचने की सलाह देते हैं, वहीं बुखार कम करने के लिए एसिटामिनोफेन के इस्तेमाल से लाभ हो सकता है. महिलाओं को अपने डॉक्टर से हर खतरे और फायदे के बारे में चर्चा करनी चाहिए.’’

 

Facebook Comments