अवैध ढांचे को तोड़ने गईं महिला अधिकारी की गोली मारकर की हत्या….

 

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सोलन के कसौली में होटलों का अवैध निर्माण हटवाने पहुंची सहायक नगर नियोजन (एटीपी) अधिकारी शैल बाला की मौत हो गई।

बता दें कि यहां से 13 होटलों और रिजॉर्ट्स को गिराना था। 13 में से 10 ने प्रशासन के ऑर्डर पर होटल खाली कर दिए। मगर तीन ने नहीं किए। इनमें से एक है नारायणी होटल। असिस्टेंट टाउन प्लानर शैल बाला अपनी टीम के साथ सुबह 9 बजे यहां पहुंचीं।

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में एक अवैध ढांचे को तोड़ने गईं महिला अधिकारी की होटल मालिक ने गोली मारकर हत्या कर दी। वजह सिर्फ इतनी थी कि महिला अधिकारी होटलों का अवैध निर्माण रोकने आईं थीं।

उन्होंने होटल मालिकों को सुप्रीम कोर्ट का आदेश दिखाया और काफी समझाने की कोशिश की कि ये निर्माण अवैध तरीके से बनाए गए हैं। वो अपनी टीम के साथ हर लोकेशन पर गईं। दूसरे होटलों पर बुलडोजर चलना शुरू हो गया था। बस फिर क्या था  इसी नारायणी होटल के मालिक विजय ठाकुर ने शैल बाला पर तीन फायर कर दिए। अधिकारी मौके पर ही ढेर हो गईं।

51 साल की शैल बाला को तुरंत पास के सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां वो मृत घोषित कर दी गईं। मौके पर मौजूद दूसरे अफसरों के मुताबिक विजय ठाकुर के पास 2011 से लाइसेंसी रिवोल्वर है औऱ उसने इसी से फायरिंग की। शैल बाला मंडी जिले की रहने वाली थीं और वो शादी के बाद सोलन में अपने परिवार के साथ रहती थीं।

 

बता दें कि सर्वोच्च न्यायालय ने कई होटलों एवं रिसॉर्ट्स में अवैध निर्माण को ढहाने के लिए 17 अप्रैल को आदेश दिया था। अवैध निर्माण तोड़ने आई प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस की टीम को देखकर कुछ होटल मालिकों ने खुद ही अवैध ढांचा ढहाना शुरू कर दिया। कुछ व्यवसायियों ने होटल स्वयं ही तोड़ने शुरू कर दिए तो कहीं पुलिस बल का प्रयोग करना पड़ा। जब टीम नारायणी गेस्ट हाउस मांडोधार पहुंची तो आरोपी विजय ने हंगामा शुरू कर दिया। देखते ही देखते व्यवसायी ने बंदूक निकाली और चार राउंड फायर कर डाले।

 

Facebook Comments