योगी के मंत्री बोले- ‘राम मंदिर अयोध्या में नहीं तो क्या न्यूयॉर्क में बनेगा’

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर चल रहे बयानबाजियों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी कड़ी में की योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने भी राम मंदिर को लेकर टिपण्णी की है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि राम मंदिर अयोध्या में नहीं बनेगा तो क्या न्यूयॉर्क में बनेगा?

 

दरअसल योगी सरकार में धार्मिक कार्य और संस्कृति तथा अल्पसंख्यक विभाग के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी सोमवार 5 मार्च एक महिला मुस्लिम सम्मलेन में शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान उनसे अयोध्या विवाद का हल कोर्ट के बाहर निकालने की कोशिशों के बीच, समझौते के फॉर्मूले को शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के जरिए खारिज किए जाने को लेकर सवाल किया गया।

इसी सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि राम मंदिर अयोध्या में नहीं तो क्या न्यूयॉर्क में बनेगा? जहां भगवान राम पैदा हुए हैं, वहां मंदिर होना ही चाहिए। ये भारतवर्ष में पैदा होने वाला हर व्यक्ति मानता है।।। राम मंदिर अयोध्या में बनना ही चाहिए। ये बात हमने पहले भी कही थी, आज भी कहते हैं और आगे भी कहते रहेंगे।’

आपको बता दें कि कि ऑर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर मंदिर विवाद को हल करने की लागातार कोशिश कर रहें हैं। इस सिलसिले में वो प्रदेश भर के तमाम मुस्लिम नेताओं और संगठनों के प्रमुखों से मुलाकात कर रहे हैं। ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य रहे सलमान नदवी ने श्री श्री से बात करते हुए मुसलमानों को राम मंदिर के नाम पर जमीन छोड़ देने की बात कही थी।

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने भी ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड ख़त लिखकर उनसे गुजारिश की थी कि वो मुस्लिमों द्वारा कब्ज़ा किये गए मंदिरों की जमीन हिंदुओं को वापस कर दें। लेकिन बोर्ड ने इस गुजारिश को ख़ारिज करते हुए कहा कि विवादित स्थल पर मस्जिद थी, इसलिए वहां हर हाल में मस्जिद ही बने।

Facebook Comments