सिर्फ 20 की उम्र में अरबों का मालिक बना ये लड़का…..

चीन के 59 युवाओं को भी इस लिस्ट में जगह मिली है। इस लिस्ट में पोलो टीम के कप्तान और जयपुर के राजा पद्मनाभ सिंह भी हैं। वे यहां के राजा सवाई मानसिंह के बेटे हैं और वे हमेशा अपनी शानौ-शौकत और लग्जरी लाइफ के लिए जाने जाते हैं। हालांकि, देश में रजवाड़ों को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है, पर अभी भी राजघरानों में राजतिलक की रस्म कर राज्य का वारिसाना हक दिया जाता है।

पद्मानाभ देश-विदेश में होने वाली कई पेज-3 पार्टीज में नजार आते हैं। इसके साथ ही वे जयपुर में होने वाले कई फेशन और अलग-अलग तरह के इवेंट्स में भी नजर आते हैं। वे हमेशा सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं और उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कई विंटेज कारों के साथ फोटो भी शेयर कर रखी है। बता दें कि जयपुर रॉयल फैमिली के पास भी कई लग्जरी विंटेज कारें मौजूद है। इसके साथ ही वे इंडियन पोलो टीम की तरफ से भी खेलते हैं।

जयपुर राजघराने के पास अरबों की संपत्ति है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राजपरिवार की कई संपत्तियों पर 1992 से रिसीवर नियुक्त कर रखा है। तब से अब तक इन पर कोई फैसला नहीं हो पाया है। भवानी सिंह के पिता सवाई मानसिंह द्वितीय की जो भी संपत्ति थी, मानसिंह के बाद भवानी सिंह उसके उत्तराधिकारी बने। तब से 1986 तक सब कुछ ठीक-ठाक रहा, लेकिन उसके बाद संपूर्ण संपत्ति के बंटवारे को लेकर पूर्व राजमाता गायत्री देवी, भवानी सिंह के भाई जयसिंह, पृथ्वी सिंह और जगतसिंह एक ओर आ गए। उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट में संपत्ति बंटवारे का दावा कर दिया। इसके बाद से अब तक राजपरिवार की काफी संपत्तियों पर कोर्ट में केस चल रहे हैं।

महाराजा सवाई मानसिंह और उनकी पहली पत्नी मरुधर कंवर के बेटे भवानी सिंह की शादी पद्मिनी देवी से हुई थी। उनकी इकलौती बेटी हैं दीया कुमारी। दीया कुमारी की शादी नरेंद्र सिंह से हुई। उनके दो बेटे पद्मनाभ सिंह और लक्ष्यराज सिंह हैं। बेटी हैं गौरवी। दीया वर्तमान में सवाई माधोपुर से बीजेपी विधायक हैं। पद्मनाभ सिंह ने 12 साल की उम्र में जयपुर रियासत संभाली तो दूसरे बेटे लक्ष्यराज सिंह ने महज 9 साल में यह जिम्मेदारी संभाली। महाराजा ब्रिगेडियर भवानी सिंह का कोई बेटा नहीं था। उन्होंने 2002 में अपनी बेटी दीया कुमारी के बेटों को गोद लिया था। भवानी सिंह के निधन के बाद 2011 में उनके वारिस के तौर पर पद्मनाभ सिंह का राजतिलक हुआ था और छोटे बेटे लक्ष्यराज 2013 में गद्दी पर बैठे।

 

Facebook Comments